Sunday, July 21

स्कूल में शौचालय की नाली से छात्रा को खींचा, शोर मचाने पर भागा आरोपित

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 09 दिसंबर (प्र)। परतापुर थाना क्षेत्र के एक गांव के संविलियन विद्यालय के शौचालय में कक्षा सात की छात्रा से दुष्कर्म का प्रयास किया गया। आरोपित ने बाहर से शौचालय की नाली के रास्ते हाथ डालकर छात्रा को खींचने का प्रयास किया। शौचालय से छात्रा के शोर मचाने पर आरोपित भाग गया। उसके बाद विद्यालय का स्टाफ एकत्र हो गया। छात्रा के स्वजन को बुलाया गया। पिता की तरफ से अज्ञात में दुष्कर्म प्रयास और पाक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया गया है।

विद्यालय में गांव निवासी कक्षा सात की छात्रा शुक्रवार दोपहर शौचालय गई थी। शौचालय विद्यालय परिसर में पीछे की तरफ है। थाना प्रभारी जयकरण सिंह ने बताया कि विद्यालय के शौचालय की नाली क्षतिग्रस्त है। बाहर बैठे युवक ने नाली के रास्ते हाथ डालकर अंदर से छात्रा को खींचा। नाली का हिस्सा इतना बड़ा नहीं था कि छात्रा उससे निकल जाती । नाली में फंसने पर छात्रा ने शोर मचा दिया। उसके बाद विद्यालय का स्टाफ शौचालय की तरफ दौड़ा तो आरोपित भाग गया। तभी कुछ छात्राओं ने पीड़ित छात्रा की मदद की। छात्रा बदहवास हो गई थी। छात्रा के स्वजन को बुलाया गया। परिवार के लोग छात्रा को अपने साथ घर ले गए। उसके बाद विद्यालय स्टाफ के साथ मिलकर देर शाम थाने पर पहुंचे। छात्रा के पिता की तरफ से मामले की तहरीर थाने में दी गई। पुलिस नेअज्ञात में मुकदमा दर्ज किया है।

मुस्लिम युवक का नाम आया प्रकाश में: पुलिस ने गांव पहुंचकर छात्रा के बयान दर्ज किए। साथ ही स्कूल के स्टाफ से भी जानकारी ली गई। काफी दिनों से शौचालय की दीवार के पास कुछ शरारती तत्व बैठ जाते थे। पुलिस को छात्राओं ने कुछ युवकों के नाम भी बताए हैं। इंस्पेक्टर जयकरण ने बताया कि इस वारदात में गांव के ही एक मुस्लिम युवक का नाम प्रकाश में आया है। आरोपित को पकड़ने के लिए टीम लगा दी है।

छात्रा के शोर मचाने पर भागा आरोपित मुकदमा दर्ज: शौचालय की नाली से छात्राओं को देखते थे युवक विद्यालय में हुई वारदात ने सभी को शर्मसार कर दिया। यह वारदात पहली नहीं थी। बताया जाता है कि कुछ युवक इससे पहले भी छात्राओं को शौच के समय परेशान कर चुके हैं। शौचालय की नाली को मनचलों ने ही तोड़ दिया था। शौचालय में छात्राओं को नाली के रास्ते देखा जाता था। कई बार छात्राओं ने इसकी शिकायत विद्यालय के स्टाफ से की थी । उसके बाद भी शौचालय को ठीक नहीं कराया गया ।

इतना सब हो गया और बीएसए को जानकारी नहीं : इस पूरे मामले में बेसिक शिक्षा विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। विद्यालय की प्रधानाचार्य का कहना है कि विद्यालय परिसर में दो शौचालय हैं। इनमें पुराने की नाली टूटने की जानकारी पूर्व में ग्राम प्रधान को दी गई थी, लेकिन अभी मरम्मत नहीं हुई। उनका कहना है कि इस शौचालय में यदाकदा ही बच्चे जाते हैं। वहीं, बीएसए आशा चौधरी का कहना है कि उनकी जानकारी में मामला नहीं आया है। शनिवार को मामले की पूरी जानकारी कर कार्रवाई की जाएगी।

Share.

About Author

Leave A Reply