Tuesday, May 28

वेस्ट पेपर की धोखाधड़ी में एक गिरफ्तार, 26 लाख बरामद

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मुजफ्फरनगर 12 अक्टूबर। फर्जी कंपनी बनाकर दो फर्मों से वेस्ट पेपर की दो धोखाधड़ी करने वाले एक आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जो देहरादून (उत्तराखंड) का रहने वाला है और आरोपितों ने दोनों फर्म से 27 लाख की धोखाधड़ी की थी। दोनों फर्म के मालिकों ने नई मंडी कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।

पुलिस लाइंस सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापति‍ ने बताया, चंदन पांडेय पांडेय निवासी फ्लैट नंबर-404 सीतारामपुरम कालोनी हैदराबाद और परशुराम पुत्र शंकर निवासी जलगांव (महाराष्ट्र) ने नई मंडी थाने में मुकदमा दर्ज कराया था, जिसमें बताया था कि एक व्यक्ति ने रमा पेपर मिल का मालिक प्रमोद अग्रवाल बनकर उनसे मोबाइल पर वेस्ट पेपर की डील की थी और आरोपित ने वेस्ट पेपर रमा पेपर मिल नजीबाबाद बिजनौर से नाम से मंगवाकर बिंदल डुप्लेक्स भोपा रोड पर उतरवाया था। पेपर उतरने के बाद आरोपित ने 10 लाख की फर्जी रसीद वाट्सएप पर भेज दी थी, जबकि बाकी रुपये मांगने पर गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी दी थी।

एसपी सिटी ने बताया, इसी तरह आरोपित ने जलगांव की श्री ट्रेडर्स कंपनी से भी वेस्ट पेपर मंगाकर धोखाधड़ी की थी। आरोपित ने दोनों फर्मों से 27 लाख का वेस्ट पेपर मंगाया था। आरोपित को पकड़ने के लिए नई मंडी कोतवाली प्रभारी बबलू सिंह वर्मा के नेतृत्व में एसआइ गजेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबल सुशील कुमार, इरफान अली, योगेश कुमार, सुमित त्यागी, कांस्टेबल कुलदीप, रोहित कुमार, विक्रम सिंह और हिमांशु की टीम गठित की गई थी।

एसपी सिटी ने बताया, एक सूचना के आधार पर बुधवार को पुलिस टीम ने आरोपित खालिद पुत्र अनवर निवासी मदीना कालोनी थाना पटेल नगर, जिला देहरादून (उत्तराखंड) को चांदपुर पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित की निशानदेही पर पुलिस ने 26 लाख रुपये नकद, पांच मोबाइल, 9 सिम कार्ड, एक बाइक और कुछ दस्तावेज बरामद किए। आरोपित शातिर किस्म का अपराधी है। फर्जी आईडी पर सिम लेकर वह कई पेपर मिल कंपनियों का मालिक बनकर मोबाइल पर वेस्ट पेपर की डील करता था और माल अन्य स्थान पर मंगवा कर बेच देता था। फर्जी तरीके से बैंकों में खाते खुलवाकर उनमें रुपये डलवा लेता था और फिर एटीएम से निकाल लेता था।

Share.

About Author

Leave A Reply