Tuesday, May 28

फ्यूचर प्लस अस्पताल में मरीज की मौत, बिल पर हुआ हंगामा

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 18 दिसंबर (प्र)। पल्लवपुरम फेज दो स्थित फ्यूचर प्लस अस्पताल में मरीज की मौत के बाद बिल मांगने पर परिजनों ने हंगामा कर दिया।  परिजनों का आरोप है कि आयुष्मान कार्ड देने के बावजूद अस्पताल स्टाफ शव नहीं सौंप रहा है। पुलिस ने हॉस्पिटल मैनेजर और अन्य स्टाफ से बातचीत के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद पुलिस ने मामला शांत कराया।

पल्लवपुरम फेज वन निवासी (55) विनोद पुत्र ओमप्रकाश पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। तबीयत बिगड़ने पर शनिवार को आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत विनोद को फ्यूचर प्लस अस्पताल में भर्ती कराया गया। रविवार को उपचार के दौरान विनोद की मौत हो गई। परिजन जब विनोद के शव को घर ले जाने लगे तो अस्पताल कर्मियों ने उन्हें रोक दिया और बिल मांगने लगे। इस पर परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। कहा कि आयुष्मान के अंतर्गत मरीज को भर्ती कराया गया था। अस्पतालकर्मियों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटना की जानकारी ली और मृतक के परिजनों को समझा बुझाकर शांत कराया। पल्लवपुरम थाना प्रभारी जयप्रकाश यादव ने बताया कि उपचार के दौरान मरीज की मौत हो गई थी। आयुष्मान के अंतर्गत मरीज को भर्ती कराया गया था। कागजों में कमी थी, जिसे पूरा करने के बाद विनोद का शव परिजनों को सौंप दिया। शव पीड़ित ले गए हैं।

वहीं, दूसरी ओर फ्यूचर प्लस हॉस्पिटल के मैनेजर संजय का कहना है कि शनिवार सुबह मरीज भर्ती हुआ था, दोपहर को आयुष्मान कार्ड दिया। रविवार सुबह उसे अप्लाई करना था। मगर, उससे पहले ही उसकी मौत हो गई। कुछ लोगों ने पीड़ित परिजनों को उकसाने का प्रयास किया था। शव उनके परिजनों को सौंप दिया है।

Share.

About Author

Leave A Reply