Friday, March 1

कनोहर लाल कॉलेज की प्राचार्य ने लगाया धोखाधड़ी, कॉलेज प्रबंध समिति सदस्यों के खिलाफ दी तहरीर

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 24 जनवरी (प्र)। कनोहर लाल कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो. अलका चौधरी ने प्रबंध तंत्र के पदाधिकारियों पर धोखाधड़ी एवं वित्तीय अनियमताओं का आरोप लगाते हुए ब्रह्मपुरी थाने में तहरीर दी है। उन्होंने ट्रस्ट के एक पदाधिकारी पर मंगलवार को अभद्रता का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज. करने की मांग की है। प्राचार्य ने कहा कि आयोग द्वारा चयनित होने के बावजूद उनका एक वर्ष से मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। ताकि वे मजबूर होकर त्याग पत्र दे दें। उन्होंने कहा है कि अगर उन्हें कुछ हो जाता है तो इसका पूर्ण दायित्व उत्तर प्रदेश शासन का होगा।

प्राचार्य प्रो. अलका चौधरी ने ब्रह्मपुरी थाने में तहरीर दी है कि मनोज कुमार गुप्ता अप्रैल 2023 से बिना किसी सूचना के कॉलेज से गायब हैं। वह ट्रस्ट में पदाधिकारी होते हुए वर्षों से वेतन पा रहे हैं। गत दोपहर करीब एक बजे नगर निगम के कुछ अधिकारी कॉलेज पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रबंध तंत्र द्वारा लगभग चार लाख हाउस टैक्स जमा नहीं किए जाने के कारण कॉलेज की सील लगानी है। प्राचार्य ने प्रबंध सचिव के बाहर होने के कारण अध्यक्ष को सूचना देकर अनुरोध किया गया कि कॉलेज को सील न किया जाए क्योंकि परीक्षा चल रही है। प्राचार्य के अनुसार मनोज कुमार गुप्ता को प्रबंध तंत्र द्वारा कॉलेज भेजा गया। उन्होंने कहा कि कॉलेज टैक्स के दायरे से बाहर है और नगर निगम पर उन्होंने मुकदमा किया हुआ है।

जब नगर निगम के अधिकारियों ने उनकी बात नहीं मानी तो बिना प्राचार्य को सूचना दिए सहायक लेखाकार राजकुमार त्यागी से चेक बनाने के लिए कहा गया। मनोज गुप्ता के अधिकृत न होते हुए जब प्राचार्य द्वारा इसे नियम विरूद्ध बताया गया तो उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया। प्राचार्य ने इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है।

प्राचार्य द्वारा दूसरी तहरीर में प्रबंध तंत्र अध्यक्ष दिनेश सिंघल एवं सचिव राकेश कुमार गुप्ता के खिलाफ स्वयं कुप्रबंधन, धोखाधड़ी एवं गंभीर वित्तीय अनियमताओं का आरोप लगाते हुए कहा है कि गत वर्षों में बालिका कोष ट्रस्ट के कार्यक्रमों को आयोजित करने में गड़बड़ी हुई।

पूरे मामले में ब्रह्मपुरी थाना प्रभारी का कहना है कि जांच कर कार्रवाई को जाएगी। वहीं, नगर निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी अवधेश कुमार ने कहा कि कॉलेज पर हाउस टैक्स के चार लाख रुपये बकाया है. दो लाख का चेक दिया है। दो लाख रुपये दो दिन में जमा करने की बात कही गई है।

मुझे कोई जानकारी नहीं है : राकेश कुमार गुप्ता
प्रबंध समिति सचिव राकेश कुमार गुप्ता का कहना है कि उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। वहीं, मनोज कुमार गुप्ता का कहना है कि उन पर लगाए गए आरोप गलत हैं। मैंने कोई बदसलूकी नहीं की है।

सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है विवाद
प्राचार्य और प्रबंध तंत्र के बीच चल रहा विवाद सुप्रीम कोर्ट में है। प्राचार्य प्रो. अलका चौधरी को प्रबंध तंत्र ने हटा दिया था। हाईकोर्ट की डबल बेंच तक प्रबंध समिति हार चुकी है। डबल बेंच को चुनौती देते हुए प्रबंधतंत्र ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की हुई है।

Share.

About Author

Leave A Reply