Thursday, June 13

दिवाली सीजन में रिकॉर्ड 3.75 लाख करोड़ का कारोबार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली 14 नवंबर। त्योहारों पर इस बार देशभर के खुदरा बाजारों में अच्छी रौनक रही। दिवाली सीजन (नवरात्र से दिवाली तक ) में देशभर के बाजारों में कुल 3.75 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड कारोबार हुआ है। पिछले साल दिवाली सीजन में कुल 2.75 लाख करोड़ रुपये की खरीद- बिक्री हुई थी, यानी इस साल पूरे एक लाख करोड़ रुपये का ज्यादा कारोबार हुआ। बाजार में भारतीय उत्पादों की धूम रही।
कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने बताया, नवरात्र से लेकर अब तक सभी त्योहारों में ग्राहकों ने जमकर खरीदारी की है। अभी गोवर्धन पूजा भैया दूज, छठ और तुलसी विवाह जैसे त्योहार बाकी हैं। इनमें करीब 50,000 करोड़ रुपये का कारोबार और होने की उम्मीद है।

व्यापार में इनकी हिस्सेदारी
■ अनुमान के मुताबिक, कुल 3.75 लाख करोड़ रुपये की खरीद-बिक्री में खाद्य एवं किराना कारोबार की हिस्सेदारी 13 फीसदी रही।
■ लोगों ने कपड़े पर 12 फीसदी और आभूषणों पर नौ फीसदी खर्च किए। इलेक्ट्रॉनिक्स मोबाइल उपकरण व उपहारों की 8-8 फीसदी हिस्सेदारी रही।
■ कॉस्मेटिक्स पर 6 फीसदी, ड्राई फ्रूट. मिठाई, नमकीन व फर्नीचर पर 4 फीसदी, बर्तन, किचन अप्लायंसेस व पूजन सामग्री पर 3 फीसदी और बेकरी उत्पादों पर 2 फीसदी खर्च हुए।
■ वाहन हार्डवेयर, इलेक्ट्रिकल उत्पाद व खिलौने सहित अन्य वस्तुओं, सेवाओं पर ग्राहकों ने 20 फीसदी खर्च किए।

पीएम की अपील का असर
पीएम नरेंद्र मोदी की स्थानीय वस्तुओं के उपयोग की अपील (वोकल फॉर लोकल) का अच्छा प्रभाव रहा। सभी शहरों में स्थानीय निर्माताओं, कारीगरों एवं कलाकारों के बनाए उत्पाद खरीदे और बेचे गए। इससे आत्मनिर्भर भारत की छवि दुनिया में गई।

चीन को एक लाख करोड़ की चपत
खंडेलवाल ने बताया, चीन को दिवाली पर करीब एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। पहले दिवाली जैसे त्योहारों पर चीन में बनी वस्तुओं को भारत में 70 फीसदी तक बजर मिल जाता था, जो इस बार बेहद कम रहा। किसी भी व्यापारी ने दिवाली से जुड़ी वस्तुएं चीन से नहीं मंगाई।

Share.

About Author

Leave A Reply