Friday, March 1

रोडवेज ने जनरथ एसी बसों का किराया घटाया

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 25 नवंबर (प्र)। सर्दी के मौसम को देखते हुए परिवहन निगम ने बातानुकूलित बसों का किराया कम कर दिया है। रोडवेज के प्रधान प्रबंधक संचालन मनोज कुमार ने सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों और सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को इस संबंध में पत्र भेजा है। बताया कि सर्दी के मौसम में रोडवेज की एसी बसों में यात्री कम होने की संभावना रहेगी। सर्दी में एसी बंद होने से डीजल की खपत भी कम होती है। इसलिए यात्रियों को विंटर डिस्काउंट छूट दी जाएगी। रोडवेज की एसी बसों में 16 दिसंबर से लेकर 28 फरवरी 2024 तक किराए में छूट दी जाएगी । मेरठ रीजन के प्रभारी आरएम लोकेश राजपूत ने बताया कि जनरथ एसी में 1.47 रुपये प्रति किलोमीटर, एसी शयनयान में 2.33 रुपये और वाल्वो में 2.58 रुपये प्रति किलोमीटर किराये में छूट दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मेरठ रीजन में 19 एसी बसें है। मेरठ से आगरा, दिल्ली-हरिद्वार, ऋषिकेश, देहरादून और लखनऊ के लिए जनरथ एसी बसें चलती है।

 मेरठ रीजन लक्ष्य हासिल में सबसे फिसड्डी रहा
त्योहारी सीजन में एक नवंबर से लेकर 22 नवंबर तक 26 करोड़ रुपये की कमाई करने के बावजूद परिवहन निगम का मेरठ रीजन राजस्व लक्ष्य में 20वें नंबर पर सबसे फिसड्डी रहा। वहीं, गाजियाबाद रीजन ने सर्वाधिक कमाई कर प्रदेश में पहला स्थान पाया। उत्तर प्रदेश में परिवहन निगम के 20 रोजन हैं हर रीजन को राजस्व बढ़ाने के लिए लक्ष्य दिया जाता है। परिवहन निगम ने दीपावली, भैयादूज और छठ महापर्व को देखते हुए 10 नवंबर से लेकर 20 ही में परिवहन निगम मुख्यालय ने राजस्व की नवंबर तक प्रोत्साहन योजना भी चलाई थी। हाल रैंकिंग जारी की है। 20वीं रैंकिंग के साथ मेरठ रीजन उत्तर प्रदेश में सबसे फिसड्डी रहा। मेरठ रोजन को मुख्यालय की तरफ से 29 करोड़ 42 लाख 94 हजार रुपये का लक्ष्य दिया था, लेकिन रीजन 26 करोड़ 57 लाख 24 हजार रुपये ही कमा पाया ।

Share.

About Author

Leave A Reply