Thursday, May 30

भारत-बांग्लादेश सीमा पर करोड़ों रूपये के 60 सोने के बिस्कुटों के साथ तस्कर गिरफ्तार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

कोलकाता 03 नवंबर। बीएसएफ खुफिया शाखा ने सोने की तस्करी की बड़ी कोशिश को नाकाम कर भारत-बांग्लादेश सीमा पर एक तस्कर को 4.33 करोड़ रुपये मूल्य के 60 सोने के बिस्कुटों के साथ पकड़ा है। इसी के साथ दक्षिण बंगाल सीमान्त के अंतर्गत आईसीपी पेट्रापोल, 145वीं वाहिनी, सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने सोने की तस्करी के बड़े प्रयास को विफल कर दिया। जवानों को सोने की तस्करी के संबंध में विशेष जानकारी मिली थी। तस्कर बांग्लादेश से भारत में सोने के बिस्कुटों की तस्करी करने का प्रयास कर रहा था। सोने के बिस्कुटों का अनुमानित वजन 6.998 किलोग्राम है। जबकि इनकी कीमत 4,32,86,217/- रुपये है।

जानकारी के अनुसार, सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने चेक पोस्ट पर ड्यूटी करते समय आईसीपी पेट्रापोल पर खाली ट्रक चेकिंग क्षेत्र में डब्ल्यूबी-11सी-1112 वाले खाली भारतीय ट्रक को रोका। बीएसएफ की खुफिया शाखा से प्राप्त विशिष्ट इनपुट के आधार पर सैनिकों ने केबिन के अंदर ट्रक की तलाशी ली। उन्हें सफेद पारदर्शी टेप में लिपटे हुए 6998.580 ग्राम वजन वाले सोने के बिस्कुट के 60 मिले, जिन पर अलग-अलग विदेशी निशान थे। इसके बाद, ट्रक के चालक को पकड़ लिया गया और मौके पर ही सोने के बिस्कुट जब्त कर लिए गए। तस्कर की पहचान 23 साल के सूरज मैग पुत्र-लुत्फर मैग के रूप में की गई। वह गांव-जॉयपुर, जिला-उत्तर24परगना, पश्चिम बंगाल का रहने वाला है।

पूछताछ के दौरान, उसने अपनी पहचान पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के पीएस-बोनगांव के अंतर्गत ग्राम-जॉयपुर के एक भारतीय नागरिक के रूप में बताई। वह ड्राइवर के रूप में काम करता है। इसके अलावा, उसने खुलासा किया कि वह अक्सर कोलकाता से बेनापोल भूमि बंदरगाह तक आईसीपी पेट्रापोल के माध्यम से परिवहन माल लोड करके बांग्लादेश जाता है।
उसने यह भी बताया कि आईसीपी पेट्रापोल के कार्गो गेट के माध्यम से लगभग 400 बैग काले मास्टरबैच के निर्यात सामान लोड करने वाले ट्रक के साथ बेनापोल लैंड पोर्ट गए थे, लेकिन अनलोडिंग में देरी के कारण उन्होंने लोड किए गए सामान को पार्क कर दिया। माल उतारने के बाद, मोहम्मद मामून नाम के एक बांग्लादेशी नागरिक ने उसे भारत में कुछ सोने के बिस्कुट पहुंचाने की पेशकश की। उसने यह भी कहा वह एक इसके काम के बदले अच्छे खासे पैसे भी देंगे।बदले में इस कार्य के लिए 10,000/- बांग्लादेशी टक्का की राशि देगा। फिर मां के इलाज के लिए पैसों की जरूरत के चलते वह तैयार हो गया। पकड़े गए व्यक्ति और जब्त किए गए सामान को सीमा शुल्क विभाग, कोलकाता को सौंप दिया गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply