Thursday, June 13

एआईएमआईएम के तीन पार्षदों ने दिया इस्तीफा

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 12 जनवरी (प्र)। नगर निगम बोर्ड के तीन पार्षदों के साथ ही कई पदाधिकारी एवं सदस्यों ने गुरुवार को एआईएमआईएम पार्टी से इस्तीफा दे दिया। एक महिला समेत तीन पार्षद जोकि एआईएमआईएम के सिंबल पर चुनाव जीतकर नगर निगम बोर्ड में शामिल हुए उनके द्वारा गुरुवार को प्रेसविज्ञप्ति जारी कर पार्टी से इस्तीफा देने की जानकारी दी गई। आरोप लगाया कि सम्मान से समझौता नहीं किया जा सकता। नगर निगम की बोर्ड बैठक के दौरान इतना बडा बवाल हुआ।

नगर निगम में एआईएमआईएम पार्षद रिहाना, पार्षद आसिफ सैफी, शब्बीर कस्सार के साथ ही पूर्व पार्षद कय्यूम अंसारी, महानगर महासचिव मास्टर आफताब, महानगर सचिव हाफिज शादाब अंसारी, महानगर महासचिव रईस सैफी द्वारा एआईएमआईएम से इस्तीफा दिया गया।

एआईएमआईएम के पार्षदों के खिलाफ सत्ता पक्ष की तरफ से कार्रवाई को दबाव बनाया गया, लेकिन एआईएमआईएम का कोई बडा नेता इस मामले में उनके समर्थन में नहीं आया। जिससे आहत होकर पार्टी छोड़ने का निर्णय लेना पडा। उधर एआईएमआईएम के महानगर अध्यक्ष ने दिये गये इस्तीफों को लेकर जो बयान दिया उसमें उन्होंने कहा जिस पार्टी से जीतकर आये यदि छोड़ना ही है तो वह पार्षद पद भी छोड़ दें।

नगर निगम के चुनाव में इस बार एआईएमआईएम पार्टी के द्वारा जहां एक तरफ महापौर पद पर बेहतर प्रदर्शन किया गया। जिसमें एआईएमआईएम प्रत्याशी दूसरे स्थान पर रहा,वहीं इस बार नगर निगम बोर्ड में भी कई पार्षद एआईएमआईएम के जीतकर पहुंचे। इस बार एआईएमआईएम के पार्षद एवं सत्ता पक्ष के पार्षदों के बीच कभी-वंदे मातरम गीत गायन को लेकर तो कभी बोर्ड बैठक में महिला पार्षदों के साथ अभद्र व्यवहार को लेकर आरोप-प्रत्यारोप लगाये जाते रहे हैं।

इसी में जहां एक तरफ सत्ता पक्ष द्वारा विपक्षी पार्षदों पर सदन के अनुरूप कार्रवाई में सहयोग नहीं देने व बैठक में हंगामें के आरोप लगाए जाते हैं। वहीं एआईएमआईएम के कुछ पार्षद अब सत्ता पक्ष से नहीं बल्कि अपनी ही पार्टी के बडे नेताओं का सहयोग नहीं मिलने से भी खफा दिखाई दे रहे हैं। जिसमें गुरुवार एआईएमआईएम के तीन पार्षदों ने पार्टी पद से इस्तीफा दे दिया। जिन पार्षदो ंने एआईएमआईएम से इस्तीफा दिया उनमें वार्ड-79 के पार्षद मोहम्मद आसिफ सैफी, वार्ड-88 से महिला पार्षद रिहाना व वार्ड-83 से पूर्व निगम पार्षद कय्यूम अंसारी ने त्याग पत्र दिया।

त्याग पत्र में सभी ने लिखा है कि पार्टी में सम्मान नहीं बचता देख उन्हें मजबूरी वस पार्टी छोड़नी पड़ रही है। नगर निगम की बोर्ड बैठक में हंगामे के बाद उनके ऊपर तमाम आरोप प्रत्यारोप लगे,लेकिन पार्टी का कोई बडा नेता उनके समर्थन में नहीं आया। जिससे पार्टी में खुद की उपेक्षा देख उनके द्वारा त्याग पत्र दिया गया। वहीं कुछ अन्य पार्षद भी उनके संपर्क में है,वह भी पार्टी से जल्द इस्तीफा देंगे।

वहीं दूसरी तरफ एआईएमआईएम के महानगर अध्यक्ष इमरान अंसारी ने प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि जिस समय एआईएमआईएम के पाषर्दगण भाजपा के खिलाफ नगर निगम में अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे थे। अपने क्षेत्र के मुद्दे उठा रहे थे। पिछले दिनों पार्षद मारपीट कांड में भाजपा द्वारा एआईएमआईएम के कुछ पार्षदों को भी टारगेट किया गया था।
इसी दबाव में आकर भाजपा के डर से बुजदिली का सुबूत देते हुए इन पार्षदों ने एआईएमआईएम छोड़ी है।

Share.

About Author

Leave A Reply