Friday, April 19

मेरठ में 12वें ऑन्कोकॉन 2024 का आयोजन, देश भर से जुटे कैंसर एक्सपर्ट

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 26 फरवरी (प्र)। दुनिया में हर साल लगभग 2 करोड़ लोगों में नए कैंसर का पता चलता है। भारत में किसी भी समय 25 लाख कैंसर रोगी होते हैं। हर साल 15 लाख नए मामले जुड़ते हैं और लगभग 10 लाख मरीज कैंसर से मर जाते हैं। इसमें महिलाओं में ब्रेस्ट और ओवरी कैंसर के केस सबसे ज्यादा होते हैं। कैंसर और इसके इलाज की मॉडर्न तकनीक पर डॉक्टर्स ने डिस्कशन किया। मेरठ में गत दिवस 12वें ऑन्कोकॉन 2024 का आयोजन किया गया। आयोजन में देशभर से कैंसर एक्सपर्ट पहुंचे। जिन्होंने कैंसर के लेटेस्ट ट्रीटमेंट पर प्रजेंटेशन दिया।

मेरठ कैंसर अस्पताल के निदेशक डॉ. उमंग मित्थल ने कहा कि भारत में स्तन कैंसर महिलाओं में सबसे आम कैंसर है (35 प्रतिशत), जिसके लगभग 5 लाख मामले हैं, और हर साल 2 लाख मामले जुड़ते हैं, जिनमें से लगभग आधे की मृत्यु हो जाती है। सभी महिलाओं के कैंसरों में डिम्बग्रंथि के कैंसर तीसरे (8 प्रतिशत) हैं। लगभग 50 प्रतिशत स्तन और डिम्बग्रंथि कैंसर धूमपान, शराब, आहार, मोटापा, खराब जीवन शैली और देर से प्रसव के कारण होते हैं। पुरुषों में मौखिक कैंसर 1.5 लाख के साथ सबसे आम हो चुका है।

कैंसर के इलाज में रोबोटिक्स के प्रयोग पर बात
फेफड़ों के कैंसर के बाद नए मामले लगभग 60000। लगभग 1 लाख स्तन कैंसर, 80000 मौखिक कैंसर, 0 वेरियन कैंसर रोगियों में से आधे और फेफड़ों के कैंसर के 60 प्रतिशत रोगियों की हर साल मृत्यु हो जाती है।वर्तमान समय में इन सभी कैंसरों की संख्या बढती जा रही है और इनमें से कई को रोका जा सकता है। सम्मेलन में डॉक्टर्स ने फेफड़े, स्तन, अंडाशय और मूहगुहा के कैंसर की रोकथाम, शीघ्र निदान और उपचार में लेटेस्ट रिसर्च पर चर्चा की और रोबोटिक्स के बारे में बात की।

इस दौरान एम्स, दिल्ली के डॉ. आशुतोष मिश्रा ने डॉ. वीबी भटनागर मेमोरियल व्याख्यान दिया। कैंसर सर्जरी और कीमोथेरेपी में रोबोटिक्स, स्पाई कैमरे और हीटेड इंट्राएब्डॉमिनल कीमोथेरेपी के बारे में बताया। कार्यक्रम में डॉ. नलिनी मित्थल, डॉ. संजय गुप्ता, डॉ. आशीष जैन, डॉ. आशु मित्थल, डॉ. तनुज गर्ग, डॉ. विवेक बंसल, डॉ. हिमानी अग्रवाल, डॉ. संजीव भाटिया, डॉ. नलिन मितल, हिमांशु गोयल, नीरज कौशिक ने सहयोग किया। कार्यक्रम का उघ्द्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. मंजू शिवाच (विधायक), विशिष्ठ अतिथि मेयर हरिकांत अहलूवालिया, प्रो. अनुराग श्रीवास्तव और डॉ. एस.पी. मिथल संरक्षक सेठ हीरालाल मिथल वैरिटेबल ट्रस्ट ने किया।

Share.

About Author

Leave A Reply