Tuesday, May 21

जौनपुर में 36 परिवारों ने शुद्धिकरण यज्ञ के बाद की घर वापसी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

जौनपुर 06 नवंबर। ग्राम देवी देवता पूजन समिति, संत रविदास धर्म रक्षा समिति सरसरा ने रविवार को बरसठी थानाक्षेत्र में शुद्धिकरण यज्ञ का आयोजन किया। रेलवे स्टेशन के पास इस यज्ञ के माध्यम से घर वापसी का कार्यक्रम कराया गया। इसमें क्षेत्र के 36 परिवारों के 310 लोगों ने जिन्होंने 10 वर्ष पहले ईसाई धर्म अपना लिया था। उन्होंने दोबारा घर वापसी करते हुए सनातन धर्म अपना लिया। सभी ने हिन्दू रीती-रिवाज को वैदिक मन्त्रों के बीच आत्मसात किया और घर वापसी की। इस दौरान खंड संघ चालक बरसठी रमापति शास्त्री और और विश्व हिन्दू परिषद् मड़ियांहू के अध्यक्ष विनोद जायसवाल भी मौजूद रहे।

बरसठी रेलवे स्टेशन के पास आयोजित कार्यक्रम में यज्ञ हवन का आयोजन किया गया। मत्नेष जायसवाल, त्रिलोचन महादेव मंदिर एक प्रधान पुजारी अमन गिरी, पंकज दुबे एवं सूरज मिश्रा, करुणाकर आश्रम भानपुर के महंत करुणाकर के नेतृत्व में हवन का काम हुआ जिसमे बरसठी के 36 परिवार जिन्होंने किन्ही कारणवश दस वर्षों पहले सनातन धर्म छोड़कर ईसाई धर्म अपना लिया था। उन्होंने सनातन में अपनी आस्था दोबारा दिखाते हुए घर वापसी की। इस हवन -पूजन में 500 लोगों ने हिस्सा लिया। इस दौरान विहिप के जिला उपाध्यक्ष विनोद जायसवाल ने बताया कि हमारे धर्म के कुछ परिवार के लोग जो दूसरे के पूजा पंडालों में जाते थे आज उनकी घर वापसी हुई है। शुद्धिकरण का कार्यक्रम महंत ओमप्रकाश ने सम्पन्न कराया।

इस दौरान मौजूद खंड संघ संचालक बरसठी रमापति शास्त्री ने कहा कि सनातन धर्म ही विश्व में शन्ति की स्थापना कर सकता है। आज अपने भूल-बिछड़े भाइयों का पुनः सनातन धर्म में आते देख में प्रसन्न हो रहा है। वापसी करने वाले परिवारों ने क्षेत्र के जाति-बिरादरी प्रमुख जगदीश के समक्ष बाइबिल क्रास सौंपकर पुनः सनातन धर्म स्वीकार किया है। वहीं विश्व हिन्दू परिषद मड़ियांहू के अध्यक्ष विनोद जायसवाल ने सभी को गंगाजल और हनुमान चालीसा देकर सनातन धर्म का महत्त्व बताया और उनकी घर वापसी कराई।

Share.

About Author

Leave A Reply