Wednesday, June 12

तेज रफ्तार ट्रक ने स्कूटी सवार समाचार पत्र एजेंट को कुचला, मौके पर मौत

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 06 अक्टूबर (प्र)। मेरठ के मेडिकल थानाक्षेत्र में गढ़ रोड पर आनंद अस्पताल के सामने गत सुबह तेज रफ्तार ट्रक ने स्कूटी सवार समाचार पत्र एजेंट अमित कुमार गुप्ता (40) को कुचल दिया। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद दो और ट्रक कुचलते हुए निकल गए। आसपास के लोगों ने बताया कि पुलिस की 112 गाड़ी वहां पहुंची तो उन्होंने ट्रकों का पीछा करने का प्रयास नहीं किया। आगे भी पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी। ऐसा होता तो दो मासूम बच्चों के सिर से पिता का साया छीनने वाले आरोपी ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया जाता।

जागृति विहार निवासी वर्षीय अमित कुमार गुप्ता अपने पिता महेंद्र गुप्ता के साथ समाचार पत्र एजेंट थे। लंबे समय से वे अखबारों से जुड़े हुए थे। गत सुबह सवा चार बजे के करीब अमित कुमार स्कूटी से शास्त्रीनगर सेंटर के लिए निकले। जैसे ही वे जागृति विहार की तरफ जाने वाली सड़क से गढ़ रोड पर पहुंचे तो पीछे से आए तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी स्कूटी में टक्कर मार दी। ट्रक के नीचे आने से अमित की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपी चालक ट्रक लेकर फरार हो गया।

वहीं, 20 मिनट बाद अमित के पिता भी सेंटर से निकले तो सड़क पर भीड़ देखकर रुक गए। उन्होंने देखा कि अमित की स्कूटी सड़क पर पड़ी हुई थी, बेटे की मौत हो चुकी थी। बदहवास पिता वहीं पर बैठ गए। अमित की मौत की सूचना उनकी पत्नी मेडिकल कॉलेज में स्टाफ नर्स माधवी अग्रवाल को दी गई। आसपास के लोगों ने बताया कि ट्रक से कुचलने के बाद दो और ट्रक शरीर को कुचलकर निकल गए। तीनों ट्रकों पर पीली पॉलीथिन बंधी हुई। पुलिस की 112 गाड़ी पहुंची लेकिन पुलिसकमिर्यों ने ट्रक को पकड़ने का प्रयास नहीं किया। अगर शहर में दूसरे थानों की पुलिस को सूचना दे दी जाती तो आरोपी चालक पकड़ा जा सकता था। लोगों का कहना था कि ट्रक की स्पीड बहुत तेज थी।

अमित की मौत की सूचना से परिवार में कोहराम मच गया। अमित के बेटे शौर्य गुप्ता आठवीं कक्षा में हैं। बेटी अवंतिका गुप्ता चौथी कक्षा में हैं। बेटे की मौत के बाद पिता सदमे में आ गए। पत्नी और बच्चों का रो-रोक बुरा हाल हो गया। हादसे की सूचना पर बड़ी संख्या में समाचार पत्र विक्रेता पहुंच गए। हर किसी की आंख नम हो गईं। बताया कि अमित बेहद व्यवहार कुशल थे। वे बड़ी मेहनत के साथ काम करते थे। पोस्टमार्टम के बाद गमगीन माहौल में उनका अंतिम संस्कार सूरजकुंड स्थित श्मसान घाट पर किया गया। बेटे शौर्य ने मुख्गानि दी तो हर किसी की रुलाई फूट पड़ी।
मेडिकल थाना प्रभारी अवधेश कुमार ने बताया कि ट्रक के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। परिजनों की तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

Share.

About Author

Leave A Reply