Saturday, April 13

देहरादून के रिलायंस ज्वेलरी शोरूम में हथियारबंद बदमाशों ने की 20 करोड़ की लूट

Pinterest LinkedIn Tumblr +

देहरादून 10 नवंबर। देहरादून के राजपुर रोड स्थित ज्वैलरी शोरूम में करोड़ों के गहनों की लूट के बाद हड़कंप मच गया है. लुटेरों रिलायंस ज्वैलर्स को निशाना बनाया. गत दिवस चार मास्क पहने हथियारबंद बदमाश आएं और बंदूक की नोंक पर शोरूम के गार्ड और कर्मचारियों को बंधक बना लिया और इसके बाद बीस करोड़ की लूट को अंजाम देकर फरार हो गई. इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है. इस लूट का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है.

रिलायंस ज्वैलर्स में सुबह 10 बजकर 24 मिनट पर नकाब पहने चार बदमाश शोरूम के अंदर घुस गए. उन्होंने सबसे पहले सिक्योरिटी गार्ड हयात सिंह को अंदर खींचा. इसके बाद शोरूम में पूरे स्टाफ को हथियार के बल पर बंधक बना लिया और सबके मोबाइल फोन को कब्जे में ले लिया. कुछ कर्मचारियों ने विरोध किया तो बदमाशों ने उनकी पिटाई कर दी. थोड़ी देर पहले ही ये शोरूम खोला गया था. कर्मचारी सोने-चांदी के गहने सजा रहे थे. कर्मचारियों से मारपीट करते हुए उन्हें बंधक बना लिया.

बदमाशों ने कर्मचारियों को डराते हुए गहने अपने बैग में भरवा लिए. सीसीटीवी फुटेज में भी देखा जा सकता है कि किस तरह से ये लुटेरे सारे गहने अपने बैग में भरवा रहे हैं. लूट के बाद बदमाशों ने सभी कर्मचारियों को किचन में बंद कर दिया और आधे घंटे तक बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी. लूट के बाद कर्मचारियों ने अपने सीनियरों और पुलिस को जानकारी दी.
इस बारे में जानकारी देते हुए एसपी सिटी सरिता डोभाल का कहना है कि लूट की सीसीटीवी मिली है. जिसके आधार पर सुरागों की जांच की जा रही है. इस मामले में शोरूम प्रबंधक सौरभ अग्रवाल की तरफ से मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है.

एसएसपी देहरादून अजय सिंह ने बताया कि शोरूम से करीब 20 करोड़ रुपये के सोने-चांदी के आभूषण लूट हुई है. बदमाशों की तलाश के लिए जगह-जगह चेकिंग की जा रही है. बदमाश जिस बाइक पर आए थे उसे छोड़कर फरार हुए हैं. पुलिस ने लुटेरों की दो बाइक बरामद की है.

वहीं राजधानी में लूट की इतनी बड़ी वारदात होने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों से गहरी नाराजगी जाहिर की है. सीएम ने इस मामले में कड़ा रुख अपनाते हुए पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक एपी अंशुमन समेत सीनियर अधिकारियों को तलब किया और बैठक के बाद उन्हें जल्द से जल्द इस मामले को सुलझाने का आदेश दिया.

Share.

About Author

Leave A Reply