Sunday, July 21

महाशिवरात्रि पर रातभर खुला रहेगा औघड़नाथ मंदिर, भारी तादाद में श्रद्धालुओं के आने की संभावना

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 05 मार्च (प्र)। पूर्व वर्षों की भांति इस वर्ष भी ऐतिहासिक काली पलटन मंदिर पर विभिन्न पवित्र नदियों से जल लाकर भगवान भोले शंकर को चढ़ाने आने वाले कावंडियों व शिवभक्तों को जल अर्पण और भगवान के दर्शन करने में कोई समस्या न हो इसके लिए की गई तैयारियों और आगे होने वाली व्यवस्थाओं की पूर्व अध्यक्ष डा0 एमके बंसल की उपस्थिति में कमेटी की एक बैठक गत दिवस मंदिर के सभागार में हुई। जिसमें आठ मार्च को महाशिवरात्रि पर्व को लेकर मंदिरों में हो रही तैयारी की समीक्षा की गई। प्रमुख शिवालय औघड़नाथ मंदिर में श्रद्धालुओं को कतारबद्ध करने के लिए बैरिकेडिंग के साथ लाइटों की सजावट का कार्य भी शुरू हो गया है। औघड़नाथ मंदिर में समिति की बैठक की गई। इसमें मंदिर समिति के पदाधिकारी, सदस्यों सहित 40 सहयोगियों ने हिस्सा लिया।

समिति के अध्यक्ष सतीश सिंघल ने कहा कि आठ मार्च को प्रातः चार बजे आरती के बाद जलाभिषेक व दर्शन शुरू हो जाएंगे। इसके बाद शाम सात बजे, रात 11 बजे व देर रात एक बजे तक आरती होगी। महाशिवरात्रि पर पूरी रात मंदिर खुला रहेगा। दोपहर में लगभग दो बजे के आसपास कुछ देर के लिए मंदिर के कपाट बंद होंगे। मंदिर में श्रद्धालुओं को गरुड़ द्वार से प्रवेश व नंदी द्वार से निकासी की जाएगी। महामंत्री राजेन्द्र का कहना था कि महाशिवरात्रि पर लगभग दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं द्वारा औघड़दानी के जलाभिषेक का अनुमान है। मंदिर समिति के 24 सीसीटीवी कैमरे सभी गतिविधियों पर नजर बनाए रखेंगे।

औघड़नाथ मंदिर के तिथि पत्रक का विमोचन : इस दौरान बैठक में औघड़नाथ मंदिर के तिथि पत्रक का विमोचन किया गया । इस अवसर पर ब्रजभूषण गुप्ता, धीरेंद्र सिंघल, सुधीर गुप्ता, अतुल अग्रवाल, अमरीश अग्रवाल, अशोक चौधरी, महेश बंसल, राजेंद्र गुप्ता, दिनेश मित्तल, सुनील गोयल मौजूद रहे।

17 मार्च को निकलेगी ठाकुर जी की शोभायात्रा : अध्यक्ष सतीश सिंघल ने बताया कि 17 मार्च को प्रातः नौ बजे औघड़नाथ मंदिर से ठाकुर जी की भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसके अगले दिन मंदिर में शाम सात बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

Share.

About Author

Leave A Reply