Thursday, May 30

भगत सिंह, आजाद, अशफाक भी आतंकी कहे जाते थेः कल्बे जवाद 

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखनऊ 14 अक्टूबर। इजरायल और फिलस्तीनी आतंकी संगठन हमास के बीच चल रहे युद्ध को लेकर शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने विवादित बयान दिया है. उन्होंने हमास के आतंकियों की तुलना देश के महान क्रांतिकारी भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद से कर दी है.

लखनऊ में शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने बातचीत में हमास की तुलना भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, रामप्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खान जैसे देशभक्तों से करते हुए कहा अंग्रेजों के लिए यह आतंकी थे उसी तरह से हमास को आतंकी बताया जा रहा है, वह असल में देशभक्त हैं.

बताते चले कि हमास के द्वारा इजरायल पर किए गए हमले के बाद शुरू हुए युद्ध में फिलिस्तीन में मारे गए लोगों के लिए लखनऊ के आसिफी मस्जिद में जुम्मे की नमाज के बाद दुआ पढ़ी गई. इस दौरान लोगों ने नारेबाजी की और इजरायल को जुल्मी देश बताया.

इस मौके पर शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने कहा,  इजरायल पूरा एक मुल्क है, जिसके पास लाखों की फौज है, हजारों टैंक हैं, उनके पास बम है और फिलिस्तीन में चंद पब्लिक के लोग हैं. इनका मुकाबला कहां हो रहा है, फिलिस्तीन में चंद पब्लिक के लोग हैं. इनका मुकाबला कहां हो रहा है, फिलिस्तीन के लोग जान दे रहे हैं.

उन्होंने कहा,   बमबारी चाहे इधर से हो या उधर से हो रही हो उसको बंद होना चाहिए, बेगुनाह लोगों की जाने जा रही हैं,  गाजा पट्टी वालों का पानी बंद कर दिया गया है, बिजली बंद कर दी गई है, इजरायल ने 30 साल तक पानी और दवा बंद रखा था तो क्या वह पीछे हट गए थे, वह फिर खड़े हो गए. आज उनको मार देंगे कल वह फिर खड़े हो जाएंगे’.

जवाद ने कहा कि इजरायल को अगर अमन चैन से रहना है तो उन्हें फिलिस्तीनियों के अधिकार देने होंगे. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भी इजरायल को आक्रमणकारी देश कहा था. उन्होंने मौजूदा केंद्र सरकार अपील करते हुए कहा कि सबसे पहले हमारे मोदी जी जंग बंद करवाएं, उसके बाद टेबल टॉक के जरिए बात करें, जो हक है, अधिकार है वह फिलिस्तीनियों को मिलना चाहिए.  इस युद्ध में हमास के लोग कहां मारे गए हैं, क्या 2 साल के बच्चे हमास के मेंबर थे, एक भी हमास वाला नहीं मरा है, सब लोग मरे हैं.
उन्होंने आगे कहा, जब अंग्रेजों से लड़ाई हो रही थी तो गांधी जी भी आतंकी थे, सुभाष चंद्र बोस भी आतंकी थे, और भगत सिंह भी आतंकी थे, अशफाकउल्ला भी आतंकी थे, आप उनको आतंकी मानेंगे, हमारे लिए देशभक्त थे उनके लिए आतंकी थे. जो भी अमेरिका के खिलाफ होता है वो उसे आतंकी बता देते हैं.

Share.

About Author

Leave A Reply