Tuesday, May 28

 हिस्ट्रीशीटर की गोली से घायल हुए सिपाही सचिन राठी की इलाज के दौरान मौत

Pinterest LinkedIn Tumblr +

कानपुर/मुजफ्फरनगर 26 दिसंबर। कन्नौज में हिस्ट्रीशीटर की गोली से घायल सिपाही की मौत हो गई है। कन्नौज में घायल सिपाही सचिन राठी की कानपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई।विशुनगढ़ में हिस्ट्रीशीटर के घर कुर्की का नोटिस चस्पा करने गया था सिपाही सचिन को तभी गोली मारी गई है।

दरअसल, कन्नौज पुलिस की टीम विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के धरनीधीरपुर नगरिया गांव में हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी। इसी दौरान पुलिस टीम पर हिस्ट्रीशीटर ने फायरिंग कर दी। उसके इस हमले में विशुनगढ़ थाने का सिपाही सचिन राठी गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे इलाज के लिए कानपुर भेजा गया है। इस घटना के करीब तीन घंटे बाद पुलिस से मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर और उसका बेटा भी घायल हो गया। पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर की पूर्व प्रधान पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। मौके पर पुलिस की टीम की तैनाती की गई है।

एसपी अमित कुमार आनंद ने इस घटना के संबंध में बताया कि विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव धरनीधीरपुर नगरिया निवासी अशोक उर्फ मुनुआ उर्फ मुन्ना पुत्र रामनरेश यादव के खिलाफ साल 2009 में छिबरामऊ कोतवाली में एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। जमानत के बाद से आरोपी फरार चल रहा था। कोर्ट की ओर से जारी वारंट के आधार पर सोमवार की शाम करीब पांच बजे छिबरामऊ कोतवाल जितेंद्र सिंह और विशुनगढ़ थानाध्यक्ष पारुल चौधरी पुलिस टीम के साथ आरोपी की गिरफ्तारी के लिए गांव पहुंचे। आरोपी ने पुलिस को घर के पास देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग शुरू होते ही पुलिस ने मोर्चा संभाला।

एनकाउंटर शुरू होने के बाद गुरसहायगंज, सौरिख, तालग्राम, सकरावा थानों की पुलिस और दो पलाटून पीएसी को मौके पर बुलाया गया। पुलिस को दहशत में रखने के लिए आरोपी की ओर से कई राउंड फायरिंग की। इसी फायरिंग में विशुनगढ़ थाने में तैनात सिपाही सचिन राठी की जांघ में गोली लगी। गोली जांघ को चीरते हुए पार कर गई थी। घायल सिपाही को तत्काल छिबरामऊ अस्पताल ले जाया गया। वहां हालात नाजुक देखते हुए कानपुर रेफर किया गया। कानपुर में इलाज के दौरान मंगलवार सुबह सिपाही की मौत हो गई।

अंधेरा होने पर आरोपी अशोक अपनी पत्नी श्यामा देवी और बेटे अभय यादव उर्फ टिंकू के साथ फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास करने लगा। घर से 20 मीटर दूरी पर पुलिस टीम ने एनकाउंटर के बाद तीनों को पकड़ लिया। जवाबी फायरिंग में हिस्ट्रीशीटर अशोक उर्फ मुनुआ और उसके बेटे टिंकू के पैर में गोली लगी है। घायलावस्था में दोनों को छिबरामऊ अस्पताल में भर्ती कराया गया।

बताते चले कि शहीद सिपाही सचिन की शादी आगामी पांच फरवरी को होनी थी। मुजफ्फरनगर के थाना बुढ़ाना के गांव शाहडब्बर का रहने वाला था शहीद सिपाही सचिन। 2019 में हुआ था पुलिस में भर्ती। कन्नौज पुलिस लाइन में सिपाही को दी जाएगी सलामी।

Share.

About Author

Leave A Reply