Tuesday, May 28

निगम की ‘मेहरबानी’, खैरनगर में नाला चोक होने के कारण बाजार में भरा पानी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 19 फरवरी (प्र)। समय से नाले-नालियों की सफाई नहीं होने के कारण लोग परेशानी भुगत रहे हैं। खैरनगर बाजार में रविवार को बिन बरसात जलभराव हो गया। सुबह दो घंटे तक आवागमन प्रभावित रहा। कई दुकानों के अंदर गंदा पानी घुसने को स्थिति बन गई। जलभराव से राहत पाने में करीब तीन घंटे लगे। इससे राहगीर और दुकानदार परेशान हुए।
वहां पुलिस चौकी के समीप नाला चोक हो गया था, जिसके चलते यह समस्या बनी जलभराव होने पर नगर निगम के सुपरवाइजर मौके पर पहुंचे तब नाले की सफाई शुरू कराई।

नाले से पालीथिन कचरा बड़ी मात्रा में निकला। सफाई के बाद नाले का अवरोध खुलते ही जलनिकासी शुरू हो गई। करीब तीन घंटे में जलनिकासी हो सकी। इस दौरान इस रोड पर नाले का गंदा पानी भरा होने से आवागमन प्रभावित हुआ। लोग दूसरे रास्ते से खैरनगर दवा बाजार पहुंचे। मेरठ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री रजनीश कौशल ने कहा कि खैरनगर में जलनिकासी की नालियों वर्षों पुरानो हैं। 40 साल पहले की जरूरत के अनुसार बनी थीं, अब इन नालियों को नए सिरे से बनाया जाना चाहिए क्योंकि अब यहां घनी आबादी है। छतरी पीर तिराहे से घंटाघर चौराहे होते हुए किशनपुरा तक नाले को कवर्ड कर दिया गया है। इस कार्य के साथ खैरनगर बाजार की जलनिकासी व्यवस्था का भी जीर्णोद्धार करने की जरूरत है।

सफाई की खुली पोल नाला उफनने से जलभराव होने पर सफाई की पोल खुल गई यदि नियमित सफाई होती तो नाले में एकाएक इतनी सिल्ट व कचरा जमा न होता। दूसरी बात यह है कि दुकानों का कचरा भी नाले में हो फेंका जा रहा है। जिस पर रोक नहीं लग सकी है। इसलिए भी नाले चोक हो रहे हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply