Sunday, April 14

गोमूत्र राज्य वाले बयान पर द्रमुक सांसद ने मांगी माफी, बोले- मुझे अफसोस है

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली 06 दिसंबर। विपक्षी गठबंधन INDIA के अहम साझीदार द्रमुक के सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार ने पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद विवादित बयान दिया था. उन्होंने लोकसभा में कहा, बीजेपी सिर्फ हिंदी हार्टलैंड में ही जीत सकती है. जिसे हम आमतौर पर गौमूत्र स्टेट कहते हैं. उनके इस बयान पर बवाल हुआ. हंगामा बढ़ने के बाद उन्होंने बुधवार को माफी मांग ली है.
सेंथिलकुमार ने अपना बयान वापस ले लिया है. उन्होंने कहा, कल अनजाने में मेरे द्वारा दिए गए बयान से यदि लोगों के एक वर्ग की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं इसे वापस लेना चाहूंगा. मैं शब्दों को हटाने का अनुरोध करता हूं…मुझे इसका अफसोस है.

बीजेपी ने किया था पलटवार
बीजेपी के नेताओं ने द्रमुक पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी से पूछा, क्या वह उत्तर भारतीयों के खिलाफ अपने सहयोगी दल के अपमानजनक बयानों से सहमत हैं. बता दें कि लोकसभा में जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक और जम्मू कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए सेंथिलकुमार ने कहा, इस देश की जनता को सोचना चाहिए कि बीजेपी की चुनाव जीतने की शक्ति केवल हिंदी पट्टी के राज्यों में है जिन्हें हम आमतौर पर गौमूत्र राज्य कहते हैं.

हाल में हुए विधानसभा चुनावों में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जहां बीजेपी को जीत मिली, वहीं तेलंगाना में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है. सेंथिलकुमार ने लोकसभा में कहा, आप (बीजेपी) दक्षिण भारत में नहीं आ सकते. आप देख लीजिए कि केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में चुनाव परिणाम क्या आया. हम वहां बहुत मजबूत हैं.
उन्होंने कहा कि हमें हैरानी नहीं होगी यदि आप इन सारे राज्यों को केंद्रशासित प्रदेशों में बदलने के विकल्प पर विचार करने लगें ताकि आप परोक्ष रूप से यहां सत्ता में आ सकें. आप वहां पैर जमाने का सपना कभी पूरा नहीं कर सकते.

Share.

About Author

Leave A Reply