Wednesday, May 22

डीयू देगा हिंदू अध्ययन में ग्रेजुएशन की डिग्री

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली, 21 नवंबर। दिल्ली विश्वविद्यालय में शुरू किए गए हिंदू अध्ययन केंद्र का गत दिवस विधिवत शुभारंभ हो गया। अध्ययन केंद्र में हिंदू अध्ययन में स्नातकोत्तर की डिग्री प्रदान की जाएगी। पहले साल 72 छात्रों ने इसमें प्रवेश लिया है। उद्घाटन के मौके पर सभी छात्र मौजूद रहे। इस अवसर पर एमए के लिए शैक्षणिक कैलेंडर भी लॉन्च किया गया।
हिंदू अध्ययन का विद्यार्थियों ने मंत्रोच्चारण के साथ वैदिक हवन कर शुभारंभ किया। कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने कहा, हिंदू अध्ययन केंद्र में किया गया शोध देशभर में संचालित ऐसे केंद्रों में अध्ययन के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण स्थापित करेगा। उन्होंने विद्यार्थियों की चिंताओं पर ध्यान दिया और बताया कि कैसे यह केंद्र स्वाभाविक रूप से अंतःविषय प्रकृति का है। चर्चा में शामिल होते हुए केंद्र की संयुक्त निदेशक डॉ. प्रेरणा मल्होत्रा ने केंद्र में पढ़ाए जाने वाले विषयों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हिंदू अध्ययन, राजनीति विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान, वाणिज्य के साथ-साथ पांडुलिपि विज्ञान और डेटा जैसे कौशल- विषय हैं।

प्रथम सेमेस्टर में जहां हिंदू धर्म और दर्शन के अध्ययन, संरक्षण और शिक्षण पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा, वहीं कौशल आधारित शिक्षा से छात्र- छात्राओं को अपना करियर बनाने में मदद मिलेगी। डॉ. प्रेरणा मल्होत्रा ने बताया कि हिंदू अध्ययन केंद्र की स्थापना का उद्देश्य विद्यार्थियों को हिंदू धर्म और दर्शन के सार के बारे में गंभीर रूप से सोचने का प्रशिक्षण प्रदान करना है। डीयू में स्थापित हिंदू अध्ययन केंद्र की मुख्य विशेषता है कि यह विद्यार्थियों को हिंदू अध्ययन के रूप में मेजर तथा माइनर में अन्य कौशल आधारित विषयों जैसे कंप्यूटर विज्ञान, राजनीति विज्ञान, वाणिज्य, डेटा अध्ययन आदि विषयों को चयन करने की सुविधा देता है, जिससे संबंधित विषयों में विद्यार्थियों के लिए करियर के नवीन विकल्प उपलब्ध होंगे। उद्घाटन समारोह के मौके पर दक्षिणी परिसर के निदेशक प्रो. श्रीप्रकाश सिंह, कला संकाय के डीन अमिताव चक्रवर्ती, हिंदू अध्ययन केंद्र के निदेशक प्रो. ओम नाथ बिमली अन्य डीन, विभाग प्रमुख, प्राचार्य व प्रोफेसर भी उपस्थित रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply