Monday, April 15

कन्या भ्रूण हत्या गिरोह का भंडाफोड़, सीआईडी जांच के आदेश

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मांड्या (कर्नाटक) 07 दिसंबर। कर्नाटक के मांड्या जिले में कन्या भ्रूण हत्या के गिरोह का पर्दाफाश होने के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने चिकित्सकीय जांच केन्द्रों के खिलाफ कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा कि मामले की सीआईडी जांच के लिये आदेश दिए गए हैं। जिले के दूरदराज के एक गांव में गुड़ बनाने की एक फैक्टरी में शल्य चिकित्सा के लिए अस्थाई केन्द्र तैयार किया गया था जहां खुलेआम कन्या भ्रूण हत्याएं की जा रही थीं।

मांड्या जिला परिवार कल्याण अधिकारी वेंकटस्वामी और पांडवपुरा उप-मंडल सहायक आयुक्त नंदीश ने इन केन्द्रों पर छापे मारे थे। उन्होंने सरकारी दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने वाले तथा अपने रिकॉर्ड में पूरी जानकारी नहीं देने वाले जांच केंद्रों पर ताला लगा दिया। पुलिस ने हाल ही में चिकित्सकों, नर्स और एजेंट सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया था। इन लोगों के कथित तौर पर 900 से अधिक कन्या भ्रूण हत्या की थीं।

पुलिस ने बताया कि गिरोह के लोग गर्भवती महिलाओं से संपर्क करते थे और उन्हें भ्रूण के लिंग निर्धारण वाली जांच के लिए फुसलाते थे। इस काम के लिए ये लोग 20,000 से 25,000 रुपये लेते थे। पुलिस के अनुसार आरोपी ये जांच गुड़ की फैक्टरी में करते थे, जहां सभी साजोसामान होता था उन्होंने बताया ,‘‘ अगर जांच में कोख में बच्ची होने का पता चलता था तो वे महिला से पूछते थे कि क्या वह गर्भपात कराना चाहती है। महिला के सहमत होने पर ये लोग गर्भपात करने के लिए 50,000 रुपये तक लेते थे। इस गिरोह ने कम से कम 900 कन्या भ्रूण हत्याएं की थीं।’’ इसबीच मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा कि मामले की सीआईडी से जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Share.

About Author

Leave A Reply