Tuesday, May 28

बैंक कॉलोनी में पति-पत्नी के विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट, छह का चालान

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 29 जनवरी (प्र)। लिसाड़ी गेट हापुड़ रोड स्थित बैंक कॉलोनी में ससुराल और मायके पक्ष के बीच जमकर मारपीट और टकराव हुआ। परिजनों के साथ ससुराल पहुंची महिला ने कोठी पर लगे ताले को तोड़ने का प्रयास किया। मौके पर जमकर बवाल हुआ। कवरेज पर पहुंचे मीडियाकर्मियों पर हमला किया गया। महिला अपनी बच्ची को लेकर जबरन ससुरालियों के मकान में घुस गई। पुलिस ने दोनों पक्ष से छह लोगों को हिरासत में लिया और शांतिभंग में चालान कर दिया।

हापुड़ के फूल गली निवासी फजलुर्रहमान ने बेटी दानिश्ता का निकाह 7 मार्च 2020 को हापुड़ रोड तिरंगा गेट के सामने बैंक कॉलोनी निवासी सद्दाम से किया था। दानिश्ता को एक बेटी 13 अप्रैल 2021 को हुई थी। पति से विवाद के चलते कुछ माह पूर्व दानिश्ता ने अपने परिवार को यहां बातचीत के लिए बुलाया था। बात नहीं बनी और दानिश्ता को बेटी के साथ ससुराल पक्ष ने घर से बाहर निकाल दिया था। रविवार दोपहर महिला और बच्ची को लेकर परिवार के लोग बैंक कॉलोनी पहुंचे। यहां दानिश्ता और बच्ची को जबरन कोठी में दाखिल कराने का प्रयास किया तो ससुराल पक्ष के लोगों के साथ भिड़ंत हो गई। महिला के ससुराल वालों ने पुलिस को सूचना दे दी कि कुछ लोग हथियार लेकर घर में घुस आए हैं। यूपी 112 और थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई खुलासा हुआ कि मामला पारिवारिक विवाद का है। इसी दौरान दानिश्ता उसकी बेटी को परिजनों ने ससुराल में दाखिल करा दिया।

दो माह से थाने के चक्कर लगा रहा था परिवारः दानिश्ता और उसके परिवार के लोगों ने आरोप लगाया कि वह दो माह से थाने के चक्कर लगा रहे थे। बावजूद इसके कोई मदद नहीं मिल रही थी। पुलिस भी सद्दाम के घर बातचीत के लिए पहुंची, लेकिन गेट नहीं खोला गया।
छह लोगों को हिरासत में लिया: पुलिस ने फजलुर्रहमान, दानिश्ता के ममेरे भाई सनव्वर, दूसरे पक्ष से इरशाद, राशिद, सुहेल और साकिब को हिरासत में लिया। सभी का शांतिभंग में चालान किया गया। दो तहरीर पर भी आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं हंगामे की सूचना पर मौके पर कुछ मीडियाकर्मी पहुंचे थे। कॉलोनी में सद्दाम पक्ष के लोगों ने मीडिया पर हमला कर दिया। मोबाइल छीनने का प्रयास किया। एक राहगीर डॉक्टर नफीस निवासी आरटीओ शास्त्रीनगर भी झगड़ा देखकर वहां रुक गए थे। आरोपियों ने डॉक्टर पर भी हमला कर दिया। पुलिस ने किसी तरह डॉक्टर और मीडियाकर्मियों को बचाया। बाद में डॉक्टर और मीडियाकर्मियों की ओर से अलग अलग तहरीर पुलिस को दी गई। हमला करने वाले आरोपियों की वीडियो रिकार्डिंग भी पुलिस को दी गई है।

Share.

About Author

Leave A Reply