Thursday, June 13

फ्लिपकार्ट समर्थ और एनआरएलएम ने सूक्ष्म उद्यमियों के लिए मेरठ में आयोजित की ओरिएंटेशन वर्कशॉप

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 19 अक्टूबर (प्र)। भारत के घरेलू ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) के साथ मिलकर आज मेरठ में एक ओरिएंटेशन वर्कशॉप का आयोजन किया। एनआरएलएम भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय की एक दीनदयाल अंत्योदय योजना है। इस वर्कशॉप का उद्देश्य स्थानीय कारीगरों एवं शिल्पकारों को सशक्त बनाना था, जिससे वे फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस की क्षमता का लाभ लेते हुए अपने ऑनलाइन कारोबार को बढ़ाने में सक्षम हो सके।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में आयोजित वर्कशॉप का उद्देश्य स्वरोजगार एवं उद्यमिता के लिए स्थानीय समुदाय को सक्षम बनाना था। फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस ऑफरिंग्स की व्यापक जानकारी पर केंद्रित करते हुए इस वर्कशॉप का लक्ष्य शिल्पकारों, बुनकरों और कारीगरों के वंचित समुदाय को अपना कारोबार बढ़ाने के लिए देशव्यापी बाजार तक पहुंचने में सक्षम बनाना था। इस वर्कशॉप में स्थानीय कारोबारियों और मेरठ में महिलाओं द्वारा संचालित किए जा रहे एसएचजी ने हिस्सा लिया। 2019 में अपनी लॉन्चिंग के बाद से फ्लिपकार्ट समर्थ प्रोग्राम ने 15 लाख से ज्यादा आजीविकाओं को अपना समर्थन दिया है। यह पहल स्थानीय कारीगरों और महिलाओं संचालित उद्यमों का सहयोग करने में कारगर साबित हुई है। इस पहल ने उन्हें तेजी से बदलते ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस में अपने कारोबार के विकास के लिए नए अवसरों को खोलने में सक्षम बनाया है।

माननीय सांसद श्री राजेंद्र अग्रवाल ने कहा हमारा मानना है कि शिल्पकारों, ग्रामीण महिला कारीगरों और स्वयं सहायता समूहों को ई-कॉमर्स का फायदा उठाने के बारे में जानकारी प्रदान करके सशक्त बनाते हुए हम उनके लिए विकास के नए अवसर सृजित कर सकते हैं। यह स्थानीय अर्थव्यवस्था के भी व्यापक हित में है। आज की वर्कशॉप के दौरान फ्लिपकार्ट का समर्थन एवं संसाधन इन कारीगरों एवं शिल्पकारों के लिए सीखने का शानदार अवसर बनकर सामने आया। हमें उम्मीद है कि इससे उन्हें जरूरी जानकारी एवं क्षमता मिलेगी, जिससे वे ऑनलाइन कारोबार की दुनिया में अपनी उपस्थिति को मजबूत करने में सक्षम होंगे और इससे उद्यमिता के उनके सफर को गति मिलेगी।

फ्लिपकार्ट ग्रुप के चीफ कॉरपोरेट अफेयर्स ऑफिसर श्री रजनीश कुमार ने कहा देशभर के कारीगरों, एमएसएमई, एसएचजी, महिलाओं द्वारा संचालित उद्यमों और शिल्पकारों की आजीविका में सहयोग करने के लिए फ्लिपकार्ट प्रतिबद्ध है। आज की वर्कशॉप को मिली शानदार प्रतिक्रिया से हम बहुत खुश हैं और हम आगे भी देश में एमएसएमई के लिए व्यापक अवसर सृजित करने की दिशा में प्रयास करते रहेंगे। फ्लिपकार्ट समर्थ के माध्यम से हमारा लक्ष्य उन्हें जानकारी, टूल्स और राष्ट्रीय बाजार तक पहुंच देना है, जिसकी जरूरत उन्हें ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर अपने कारोबार को विस्तार देने के लिए है।

फ्लिपकार्ट समर्थ का लक्ष्य अर्थपूर्ण अवसर सृजित करना है, जिससे 28 राज्यों के लाखों कारीगर, बुनकर और सूक्ष्म उद्यमी सशक्त हो और उन्हें वित्तीय आजादी पाने में मदद मिले। यह प्रोग्राम समाज के वंचित वर्ग की सहायता करने और समाज के हित के लिए प्रतिबद्ध संगठनों का समर्थन करने के लिए समर्पित है। 2019 में अपनी लॉन्चिंग के बाद से फ्लिपकार्ट समर्थ ने लाखों महत्वाकांक्षी उद्यमियों को देशभर के बाजार तक पहुंचने में सक्षम बनाया है। अकेले पिछले साल ही फ्लिपकार्ट समर्थ से जुड़े सेलर्स की संख्या में 300 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और समर्थ से जुड़े लाभार्थियों का कारोबार भी 300 प्रतिशत तक बढ़ा है। ज्यादा से ज्यादा एमएसएमई को ई-कॉमर्स से जोड़ने की दिशा में फ्लिपकार्ट का सतत प्रयास भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य के ही अनुरूप है। अपने प्लटफॉर्म के माध्यम से देशभर में स्थानीय विक्रेता समुदाय को अपने 50 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों तक पहुंच देते हुए उनकी आजीविका में बदलाव करना और उनके जीवन स्तर को ऊपर उठाना फ्लिपकार्ट का लक्ष्य है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी दीपक मीणा, मुख्य विकास अधिकारी नूपुर गोयल और फ्लिपकार्ट ग्रुप के चीफ कॉरपोरेट अफेयर्स ऑफिसर रजनीश कुमार उपस्थित रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply