Sunday, May 19

राजनेताओं में एनकांउटर हो जाने की भावना उत्पन्न होना किसी भी सरकार के लिए उचित नहीं!

Pinterest LinkedIn Tumblr +

सपा के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव का कहना है कि आजम खान का एनकाउंटर हुआ तो देश में वो होगा जो सोच नहीं सकते। इटावा में सरदार पटेल जयंती समारोह के अवसर पर गत दिवस केके डिग्री कालेज पक्का तालाब में आये प्रोफेसर रामगोपाल ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था काफी खराब है महिलाओं और छात्राओं का जीना दुभर हो गया है। पुलिस एनकाउंटर कर रही है अपराध रोकने का कोई उपाय नहीं। प्रोफेसर रामगोपाल यादव का यह बयान बीते दिनों प्रदेश सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे सपा के प्रमुख नेता आजम खान के उस बयान के बाद आया जिसमें उन्होंने कहा था कि हो सकता है मेरा एनकांउटर।
बताते चले कि आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चन्द्रा बाबू नायडू द्वारा भी बीते दिनों पढ़ने को मिली खबरों के अनुसार कुछ ऐसा ही कहा गया था कि हो सकता है मेरा एनकांउटर। सवाल यह उठता है कि राजनीति में कब किसके पास सत्ता रहेगी ये नहीं कहा जा सकता। हार जीत सिक्के के दो पहलुओं के समान होती है लेकिन प्रमुख बड़े नेताओं में ये भावना उत्पन्न होना कि उनका एनकांउटर हो सकता है वो किसी भी सरकार के लिए उचित नहीं कहा जा सकता। क्योंकि ऐसा कहने वाले नेताओं के कार्यकर्ताओं और समर्थकों में रोष उत्पन्न होता है जो कानून और शांति व्यवस्था की स्थिति को प्रभावित करता है। जिसे सही नहीं कहा सकता। माननीय प्रधानमंत्री जी और सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था का राज और अपराध मुक्त होने की बात करते है। इसका विश्वास आम आदमी को दिलाने हेतु किसी भी नेता या जनप्रतिनिधि में ऐसी भावना न बने कि उसका एनकांउटर हो सकता है। देश के गृहमंत्री अमित शाह साहब को इस संदर्भ में सर्वदलीय बैठक बुलाकर सरकार का मत स्पष्ट करते हुए सभी नेताओं को यह विश्वास दिलाना चाहिए कि सरकार ऐसा नहीं होने देगी।

Share.

About Author

Leave A Reply