Monday, February 26

कंकरखेड़ा के मार्शल पिच पर भू-माफिया ने कब्जा ली करोड़ों की जमीन

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 19 जनवरी (प्र)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में कहा कि जो सरकारी जमीन कब्जायेगा वो बचेगा नहीं। फिर भी भू-माफिया खौफ नहीं खा रहे हैं। कंकरखेड़ा के मार्शल पिच पर मौके पर तालाब की जमीन पर कब्जा किया जा रहा हैं। ये जमीन करोड़ों की हैं। मिट्टी का भराव इस पर आरंभ कर दिया हैं। रात के अंधेरे में डंपर से मिट्टी भराव इसमें किया जा रहा हैं। नगर निगम और प्रशासन ने इस तरफ से आंखें मूंद ली हैं। सरकारी जमीन पर कब्जा होने की एक तरह से छूट दे दी हैं।

लाला मोहम्मदपुर रोड पर मार्शल पिच चौराहा स्थित सरकारी भूमि की ये जमीन करोड़ों रुपये की हैं। इस भूमि पर भू-माफिया ने कब्जा कर निर्माण शुरू कर दिया हैं। इससे पूर्व भी यहां करोड़ों की जमीन पर पहले भी कब्जा किया हुआ हैं। इसके अलावा कासमपुर पहाड़ी नाला चौपला बच्चा श्मशान के निकट तालाब की भूमि पर भी भूमाफियाओं ने कब्जा करने के लिए भराव शुरू कर दिया है। कासमपुर और मार्शल पिच के निकट करोड़ों रुपये की सरकारी भूमि पर पहले भी कब्जा हो चुका है और खाली पड़ी सरकारी भूमि पर फिर से कब्जे शुरू हो गए हैं,

लेकिन प्रशासनिक अधिकारी भू-माफियाओं के सामने नतमस्तक हो गए हैं। लाला मोहम्मदपुर रोड पर मार्शल पिच चौराहा के निकट सरकारी भूमि पर कब्ज का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। पिछले साल इस भूमि खसरा संख्या 1032 में निर्माण कार्य किया जा रहा था। सरकारी भूमि पर निर्माण की सूचना पर राजस्व विभाग की टीम मौके पर पहुंची और निर्माण को बंद करा दिया था। टीम द्वारा भूमि के कागज दिखाने को कहा गया तो आरोपी ने एक बैनामा दिखाया। जो 2017 में खसरा संख्या 1032 की भूमि का होना दर्शाया गया था।

टीम द्वारा जांच करने पर उक्त बैनामा को सीजरे के अनुसार मिलान पर फर्जी तरीके से करना पाया गया। खसरा 1032 राजस्व भूमि सरकारी संपत्ति दर्ज है। पुलिस की मौजूदगी में किए गए निर्माण को ध्वस्त कर दिया गया था। आरोपी को बिना कोई कार्रवाई कर चेतावनी देकर छोड़ दिया था। 1032 एव 1085/4 सरकारी भूमि की खरीद फरोख्त करने के मामले में पहले से ही उक्त आरोपी पर थाना कंकरखेड़ा में मुकदमा दर्ज है।
बावजूद 2017 में फिर से उक्त खसरे 1032 में 300 मीटर जमीन का बैनामा भूमाफिया रहीमुद्दीन के पार्टनर शौकत अली से कराया है। खसरा 1285/4 कोर्ट में विचाराधीन है। 1032 में नगर निगम द्वारा कूढ़े घर का निर्माण कार्य किया जा रहा हैं। इस सरकारी भूमि पर कब्जे में नगर निगम कर्मचारी भी शामिल है। इसके अलावा कासमपुर पहाड़ी के निकट बच्च श्मशान के सामने तालाब की भूमि पर भूमाफियाओं द्वारा भराव किया जा रहा है।

Share.

About Author

Leave A Reply