Friday, March 1

नायब तहसीलदार गिरफ्तार, 25 हज़ार का था इनाम घोषित

Pinterest LinkedIn Tumblr +

बस्ती 28 नवंबर। उत्तर प्रदेश में बस्ती जिले के कोतवाली क्षेत्र में पुलिस ने सदर तहसील मे तैनात दुष्कर्म एवं हत्या के प्रयास के आरोपी नायब तहसीलदार को रोडवेज के समीप से गिरफ्तार कर लिया है। पिछले 10 दिन से फरार नायब तहसीलदार को बस्ती पुलिस की 6 टीम तलाश रही थी.

अपर पुलिस अधीक्षक दीपेन्द्रनाथ चौधरी ने सोमवार को बताया कि कोतवाली थाने मे सदर तहसील मे तैनात एक महिला नायब तहसीलदार ने 17 नवम्बर को तहरीर देकर नायब तहसीलदार घनश्याम शुक्ला के विरूद्व आईपीसी की धारा 323,452, 504,354,307,376,511 के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया था जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस निरन्तर प्रयास कर रही थी।
सोमवार को कोतवाली थाने की पुलिस ने रोडवेज बस अड्डे के समीप से घनश्याम शुक्ला को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। इसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया था।

पुलिस को जानकारी मिली थी कि भगोड़ा मजिस्ट्रेट विदेश भागने की फिराक में है, जिसको लेकर मुखबिर से सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम ने आरोपी घनश्याम शुक्ला को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई. सदर तहसील में तैनात महिला नायब तहसीलदार ने थाना कोतवाली में अपने साथी नायब तहसीलदार घनश्याम शुक्ला पर जबरन सरकारी आवास में घुसकर रेप करने का प्रयास और नाकाम होने पर हत्या करने की कोशिश करने की एफआईआर दर्ज करवाई थी. इसके बाद से ही बस्ती पुलिस और प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी इस मामले में लगातार लीपा पोती करते नजर आ रहे थे.

फिलहाल इस पूरे मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक दीपेंद्र नाथ चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि वांछित अभियुक्त घनश्याम शुक्ला को आज रोडवेज तिराहे के पास से गिरफ्तार किया गया है. जिसे गिरफ्तारी के बाद न्यायालय में प्रस्तुत किया जा रहा है. इसके बाद विवेचनात्मक कार्रवाई पूरी होने के बाद आरोप पत्र न्यायालय प्रेषित कर दिया जाएगा.

बता दें कि महिला नायब तहसीलदार से उनके सरकारी आवास में घुसकर रेप और हत्या की कोशिश के मामले में डीएम के नेतृत्व में बनी विशाखा कमेटी की रिपोर्ट को एसपी ने सिरे से खारिज कर दिया था. रिपोर्ट के अनुसार आरोपी नायब तहसीलदार घनश्याम शुक्ला को क्लीन चिट देने की कोशिश की गई थी और पीड़ित महिला नायब तहसीलदार को बदचलन तक घोषित कर दिया गया था.

Share.

About Author

Leave A Reply