Saturday, February 24

महिला सिपाही ने लेखपाल पति को थाने में पकड़वाया

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 28 नवंबर (प्र)। सात सालों तक प्रेम प्रसंग परवान चढ़ा। घरवालों की रजामंदी के बाद प्रेमी जोड़े में अप्रैल-2023 में प्रेम विवाह कर लिया। पत्नी दिल्ली पुलिस में सिपाही है, जबकि पति मवाना तहसील में लेखपाल है। सोमवार को पत्नी कंकरखेड़ा थाने पहुंची और पति पर शराब के नशे में मारपीट करने व दहेज उत्पीड़न करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी, जिसके बाद पुलिस ने लेखपाल पति को हिरासत में बैठा लिया।

कंकरखेड़ा नगर में न्यू गोविंदपुरी निवासी उत्कर्ष ने बताया कि वह मवाना तहसील में लेखपाल है। सात सालों से जिटौली के पास रहने वाली एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों ने घर से भागने का प्रयास किया, ले‍क‍िन जब स्वजन को पता चला तो उन्होंने युवती पर पहरा बैठा दिया और घर से बाहर जाने पर पाबंदी लगा दी। कुछ समय बाद हालात सामान्य हो गए और दोनों के पर‍िजन शादी के ल‍िए रजामंद हो गए।अप्रैल 2023 में प्रेमी जोड़े की शादी हो गई। शादी के कुछ महीने पूर्व ही युवती की दिल्ली पुलिस में सिपाही के लिए भर्ती हो गई। सोमवार को महिला सिपाही अपने लेखपाल पति को लेकर कंकरखेड़ा थाने में पहुंची। जहां आरोप लगाते हुए तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने आरोपित पति को हिरासत में थाने में ही बैठा लिया। सिपाही पत्नी उसके बाद थाने से चली गई। लेखपाल की बहन और बहनोई भी उसे छुड़ाने थाने पहुंचे, लेक‍िन पुलिस ने पीड़ित महिला सिपाही से बातचीत के बाद ही छोड़ने को कहा।
लेखपाल का कहना है क‍ि आरोप झूठे हैं। पत्नी और उसके मायके वाले लेखपाल से अपना ट्रांसफर गाजियाबाद या नोएडा कराने को जोर दे रहे हैं, ताकि पत्नी वहीं रह सके। जबकि पत्नी ने लेखपाल संग उसके कंकरखेड़ा वाले मकान में रहने से इनकार कर दिया।

Share.

About Author

Leave A Reply