Saturday, February 24

संसद घुसपैठ पर विपक्ष की अमित शाह के इस्तीफे की मांग, सोनिया 14 निलंबित सांसदों से मिलीं

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली, 15 दिसंबर। संसद की सुरक्षा में चूक मामले पर विपक्षी दलों ने लगातार दूसरे दिन आज लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा किया। लोकसभा की कार्यवाही महज 2 मिनट में स्थगित हो गई।
स्पीकर ओम बिड़ला जैसे ही कुर्सी पर बैठे, हंगामा शुरू हो गया। विपक्ष के सांसद वेल तक पहुंच गए। विपक्ष ने गृह मंत्री अमित शाह के सदन में बयान और इस्तीफे की मांग की। हंगामे के चलते लोकसभा 11.02 बजे और राज्यसभा 11.09 मिनट पर 2 बजे तक के लिए स्थगित हो गई। उधर, सदन के बाहर गांधी प्रतिमा के सामने आज विपक्ष के 14 निलंबित सांसदों (13 लोकसभा और 1 राज्यसभा) ने प्रदर्शन किया। इनका कहना था कि दोनों सदनों में विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। सोनिया गांधी ने इन सांसदों से मुलाकात की।

जदयू सांसद ललन सिंह ने कहा था- अगर संसद में घुसने वाले अगर मुसलमान होते तो ये लोग (भाजपा) देश-दुनिया में तूफान मचा दिए होते। उसी के नाम ये लोग देश में उन्माद मचा दिए होते। अगर कांग्रेस के सांसद की अनुशंसा पर आए विजिटर्स ने ऐसा किया तो देखते कि इनका रवैया क्या होता।

डीएमके सांसद कनिमोझी ने कहा कि भाजपा बार-बार कह रही है कि केवल वे ही हैं, जो देश की रक्षा कर सकते हैं, लेकिन वे संसद की भी रक्षा नहीं कर पा रहे। प्रधानमंत्री वहां अंदर हो सकते थे। संसद में वे अपने ही प्रधानमंत्री की रक्षा नहीं कर सके और फिर कह रहे हैं कि हम इस मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहे हैं…। जो कुछ भी हुआ, उसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

कांग्रेस के मनिकम टैगोर ने कहा कि भारत गठबंधन के सभी सांसद एकजुट हैं और कल हम सभी को अलोकतांत्रिक तरीके से निलंबित कर दिया गया। हम गांधी प्रतिमा के सामने मौन प्रदर्शन कर रहे हैं। विरोध जारी रखेंगे।

राजीव शुक्ला (कांग्रेस) ने कहा कि संसद सदस्यों को निलंबित किया जा रहा है और सदन छोड़ने के लिए कहा जा रहा है। अब विपक्ष के पास क्या बचा है? लोग सदन में बोलने के लिए विपक्ष को चुनते हैं। प्रह्लाद जोशी (संसदीय कार्य मंत्री) ने कहा कि स्पीकर ने जो भी निर्देश दिए हैं, सरकार उनका अक्षरशः पालन कर रही है। मामला कोर्ट में भी है, हाईलेवल जांच चल रही है। विपक्ष को जिम्मेदारीपूर्वक व्यवहार करना चाहिए। गांधी प्रतिमा के सामने आजह विपक्ष ने प्रदर्शन किया। संसद की सुरक्षा चूक पर गत गुरुवार को भी दिनभर सदन में हंगामा हुआ था। लोकसभा और राज्यसभा से विपक्ष के 14 सांसदों को पूरे सत्र के लिए सस्पेंड कर दिया गया। इनमें 13 लोकसभा सांसद हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply