Sunday, April 14

भूड़बराल और दौराला के तीन गांवों की जमीन पर बनेंगे रोडवेज बस अड्डे

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 22 नवंबर (प्र)। भैंसाली बस अड्डे व डिपो को शहर से बाहर करने का रास्ता साफ हो गया है। आरआरटीएस परियोजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के दो बस अड्डों का निर्माण किया जाएगा। बस अड्डों के निर्माण के लिए सरधना व सदर तहसील क्षेत्र के चारों की कुल 39,930 वर्ग मीटर भूमि का चयन कर लिया गया है। बस अड्डों के साथ डिपो का निर्माण भी किया जाएगा।
रैपिड कारिडोर का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है बस अड्डे व डिपो निर्माण के लिए सदर तहसील क्षेत्र के गांव भूड़बराल व सरधना तहसील क्षेत्र के दौराला में तीन गांवों की जमीन का चयन बस अड्डे व डिपो निर्माण के लिए किया गया है। आरआरटीएस के अधिकारियों ने भूमि चयनित होने के साथ भू अर्जन के प्रस्ताव को जिला प्रशासन के समक्ष प्रस्तुत कर दिया है।

यहां बनेंगे बस अड्डे व डिपो: आरआरटीएस परियोजना के अंतर्गत बनाए जाने वाले उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के ये बस अड्डे व डिपो के निर्माण के लिए सदर तहसील क्षेत्र के गांव डबरा में कुल 28,132 वर्ग मीटर भूमिका चयन किया गया है। ऐसे ही सरधना तहसील में दौराला के गांव सिवाय में 9,292 वर्ग मीटर, दुल्हेडा चौहान में 2,345 वर्ग मीटर और पल्हेड़ा में 0161 वर्ग मीटर भूमि को अधिग्रहण के लिए चयनित किया है। भूड़बराल में अधिक भूमि अधिग्रहण होगी और यहां बस अड्डा व डिपो बनेगा।

जाम और प्रदूषण से मिलेगी राहत: दिल्ली के पास होने के कारण भैसाली बस अड्डे से प्रतिदिन 1400 से अधिक का संचालन होता है। जिस कारण हर दिन शहरवासियों को जाम का समाना करना पड़ता है। इसके अलावा प्रदूषण का स्तर भी बढ़ता है। बस अड्डे शहर से बाहर जाने से जाम की समस्या का निधन होगा उधर, सरधना रोड स्थित चौराहे और बागपत रोड के साथ बड़ौत रोहटा रोड पर चौराहों के पास शेल्टर की सुविधा भी दी जाएगी।

शहर के बाहर बस अड्डों के निर्माण के लिए प्रक्रिया को तेजी से किया जा रहा है। दोनों बस अड्डो व डिपी के लिए भूमि का चयन कर लिया है। अब अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की जा रही है।– सुलतान अशरफ सिद्दीकी एडीएम एलए

Share.

About Author

Leave A Reply