Saturday, February 24

बाली के हिंदू मंदिर में र्निवस्त्र होकर साधना, भारतीय विदेश मंत्री विरोध जताएं

Pinterest LinkedIn Tumblr +

दुनियाभर में अगर कोरोनाकाल को छोड़ दें तो हर व्यक्ति चाहे वह किसी भी धर्म को क्यों ना मानने वाला हो उसके सामने नतमस्तक रहता है और पूजा पाठ करने का कोई मौका नहीं चूकता है। वर्तमान में मंदिर आदि पवित्र स्थानों की गरिमा को ध्यान में रखते हुए अपने देश में तमाम छोटे बड़े मंदिरों की प्रबंध समितियों एवं पुजारियों द्वारा डेªसकोड जारी किए गए हैं। जो लगभग एक से हैं। इसका मुख्य उददेश्य जो नजर आया वो यह है कि जिन देवी देवताओं की हम पूजा करते हैं उनके पवित्र घर में ना तो कोई अश्लीलता भरे वस्त्र पहनकर आए ना किसी को ऐसा मौका मिले इसलिए बरमुडा, कटी फटी जींस कम कपड़े आदि पहनकर आने पर प्रतिबंध लगाया गया है और इसकी जानकारी पूरी दुनिया के हर जागरूक नागरिक को सोशल मीडिया के कारण है इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता।
इसके बावजूद हिंदु बाहुल्य देश जहां बड़ी तादात में भारतीय हिंदू भी निवास करते हैं वहां इंडोनेशिया के रिसॉर्ट द्वीप बाली के प्रसिद्ध मंदिर में किसी विदेशी नागरिक द्वारा नग्न अवस्था में साधना की गई जिसका वीडियो जारी हो रहा बताते है। एक खबर के अनुसार इंडोनेशिया के रिसॉर्ट द्वीप बाली में एक विख्यात हिन्दू मंदिर में विदेशी नागरिक की नग्न अवस्था में साधना का वीडियो फिल्माने का मामला सामने आया है। वहां के पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे उस शख्स की तलाश कर रहे हैं, जिसने ऐसा कृत्य किया। हिन्दू बहुल द्वीप बाली में 90 प्रतिशत से ज्यादा हिन्दू रहते हैं। इस तरह की घटना ने लोगों में आक्रोश पैदा कर दिया है। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस एक्टिव हुई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी की पहचान हो गई है, उसके नाम और देश का खुलासा पकड़े जाने तक नहीं किया जाएगा।
ऐसा करने वाले की पहचान के बाद उसका पकड़ा जाना लगभग तय है लेकिन भविष्य में दुनिया में इस प्रकार की घटनाएं जिनसे हिंदु समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचे इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए हमारे विदेश मंत्री को इंडोनेशिया की सरकार से इस घटना पर विरोध जताते हुए विश्व की सभी सरकारों को भी अपने इस रूख से की हम धर्म के प्रति कितने आस्थावान हैं इसे ध्यान रखते हुए सभी अपने यहां हर धर्म के धार्मिक स्थलों की पवित्रता बनाए रखने के लिए जरूरी कदम उठाए क्योंकि आए दिन कुछ देशों में होने वाली घटनाओं को लेकर धार्मिक स्थलों के अपमान से संबंध जो खबरें छपती हैं उससे पूरे विश्व में रहने वाले भारतीयों की भावनाएं आहत होती हैं। अब जब भारतीय प्रधानमंत्री दुनियाभर में हमारा अपना और देश का सम्मान बढ़ाने में सक्षम हैं तो ऐसे में ऐसी घटनाओं को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

Share.

About Author

Leave A Reply