Wednesday, May 22

प्रेस की आजादी पर हमले बंद करो

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मोदीपुरम, 12 अक्टूबर (प्र)। ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन और जनवादी लेखक संघ मेरठ द्वारा सरकार द्वारा बोलने की आजादी और प्रेस की आजादी पर हो रहे हमलों के खिलाफ चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति से लेकर जिलाधिकारी कार्यालय तक सड़कों पर प्रदर्शन किया गया और भारत की राष्ट्रपति महोदय को जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन दिया गया।

ज्ञापन में कहा गया है कि दिल्ली के गिरफ्तार किए द्यगए पत्रकारों के घरों पर की गई पुलिस की कार्रवाई मनमानी, डराने वाली और चुप करने वाली थी जिसकी कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। यह कार्रवाई बोलने लिखने की संवैधानिक आजादी पर खुला हमला है। ऐसी कार्रवाई करके सरकार मीडिया और पत्रकारों की आजादी और कलम के सिपाहियों की आजादी को छीन लेना चाहती है। यह सच बोलने और छापने की आजादी पर तानाशाही पूर्ण हमला है। गिरफ्तार पत्रकारों को तुरंत रिहा किया जाए और आतंकवादी यूएपीए कानून को निरस्त किया जाए

। जुलूस में भाग लेने वाले और ज्ञापन देने वालों में अब्दुल जब्बार खान, मुनेश त्यागी, राजकुमार गुर्जर, जीपी सलोनिया, देवेंद्र सिंह, ब्रह्मशिला, जावेद, कुंवर असलम, रविंद्र सिंह, सत्येंद्र सिंह, प्रवीण भारती, मनजीत, आसिफा परवीन, आस्था वर्मा, रामकिशन बंसल, अफाक, नदीम, श्याम सिंह, आसिफ, कर्रार, जाहिद, रिजवान अधिवक्ता शामिल रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply