Monday, April 15

बाथरूम में गीजर की गैस से छात्र बेहोश, दरवाजा तोड़कर निकाला

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 29 दिसंबर (प्र)। गंगानगर की शिवलोक कॉलोनी में गत सुबह बाथरूम में नहाने पहुंचा दसवीं कक्षा का छात्र, गीजर की गैस लीक होने से बेहोश हो गया। काफी देर तक छात्र के बाहर नहीं निकलने पर परिजनों ने बाथरूम का दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला। छात्र को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मवाना रोड स्थित शिवलोक कॉलोनी निवासी 16 वर्षीय अक्षित कश्यप दसवीं कक्षा का छात्र है। गुरुवार सुबह करीब साढ़े 12 बजे वह नहाने बाथरूम में गया। उसने गेट अंदर से लॉक कर गैस गीजर चलाकर नहाना शुरू कर दिया। काफी देर तक जब अक्षित बाहर नहीं निकला तो मां मंजू ने दरवाजा खटखटाते हुए आवाज दी। अक्षित ने कोई जवाब नहीं दिया तो मंजू ने शोर मचाते हुए परिजनों को | बुला लिया। परिजनों ने बाथरूम के – दरवाजे को तोड़कर देखा तो अक्षित बाथरूम में बेहोश पड़ा था। अंदर से । गीजर की गैस की दुर्गंध उठ रही थी। परिजन पड़ोसियों की मदद से अक्षित को उठाकर अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने अक्षित को आईसीयू में भर्ती करते हुए उसका उपचार शुरू किया।

बताया गया है कि बाथरूम छोटा होने के साथ उसके अंदर वेंटिलेशन नहीं था। छोटे से बाथरूम में लगे गीजर से गैस लीक होने की वजह से हादसा हुआ। कुछ महीनों पहले अक्षित के पिता मनु कश्यप की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। वह एलआईसी में अभिकर्ता थे। अब इस घटना के बाद से परिजन बेहद परेशान हैं।

इन बातों का ध्यान रखें
■ गीजर से जुड़ा गैस सिलेंडर कहीं भी हो, उसका बर्नर बाहर होना चाहिए, जिससे बाथरूम के अंदर ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी।
■ बर्नर बाथरूम से बाहर लगाने की व्यवस्था न हो तो लोगों को चाहिए कि वह बाल्टी में पहले पानी भर लें और इस समय बाथरूम खुला होना चाहिए। गीजर बंद करने के बाद ही नहाना शुरू करें। ऐसा करने से कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस नहीं बनेगी।
■ गीजर चल रहा है और नहा रहे हैं तो गैस बनेगी ऐसे में बर्नर बाथरूम से बाहर लगाने से ही इस समस्या से निजात मिल सकती है।

Share.

About Author

Leave A Reply