Thursday, June 13

किसान की पीटकर हत्या के मामले में फरार छह पुलिसकर्मियों समेत सात आरोपियों की संपत्ति होगी कुर्क

Pinterest LinkedIn Tumblr +

बरेली, 15 दिसंबर। बरेली के भमोरा थाना क्षेत्र में किसान की पीटकर हत्या के मामले में फरार पुलिसकर्मी अब अपने ही विभाग के निशाने पर हैं। इनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। विवेचक ने टीम के साथ भमोरा क्षेत्र के एंबुलेंस चालक के घर बुलडोजर ले जाकर ढोल बजवाकर मुनादी कराई, वहीं इसी तरह की कार्रवाई करने के लिए तीन पुलिस टीमें उन जिलों को रवाना हो गई हैं, जहां के पुलिसकर्मी रहने वाले हैं।

दिवाली के दिनों में जुआ बड़े पैमाने पर हो रहा था। इस दौरान दस नवंबर को अफसरों को बिना कोई जानकारी दिए भमोरा थाने की सरदार नगर चौकी पुलिस जुआ पकड़ने गई थी। जुआरी तो फरार हो गए थे पर पुलिस की पिटाई से किसान संतोष शर्मा की मौत हो गई थी। एसएसपी ने उस वक्त सात पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। एक दरोगा नेपाल सिंह को भूमिका सामने आने पर बाद में निलंबित किया गया। परिजनों की तहरीर पर एंबुलेंस ड्राइवर विजय समेत 10 लोगों पर रिपोर्ट करा दी। विवेचना फतेहगंज पश्चिमी थाना प्रभारी धनंजय पांडेय को दे दी गई। एक भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर परिजनों में आक्रोश था। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने बृहस्पतिवार को छह पुलिसकर्मियों समेत एंबुलेंस ड्राइवर के 82 की कार्रवाई (कुर्की पूर्व) कर दी।

विवेचक के साथ फतेहगंज पश्चिमी व भमोरा थाना पुलिस की टीम दोपहर के वक्त भमोरा के कोहनी गांव पहुंची। वहां एंबुलेंस ड्राइवर विजय के घर का दरवाजा ताला बंद मिला। उसके दरवाजे पर ढोल बजवाकर उसकी फरारी की घोषणा कर पुलिस ने कुर्की नोटिस चस्पा कर दिया। मौके पर बुलडोजर भी खड़ा किया गया था। विवेचक पांडेय ने कहा कि तय अवधि में हाजिर न होने पर आरोपी के नाम दर्ज संपत्ति घर की कुर्की की जाएगी। आरोपियों के मददगारों पर भी कार्रवाई होगी।

एसएसपी ने चौकी इंचार्ज सरदार नगर एसआई टिंकू कुमार, हेड कांस्टेबल पुष्पेंद्र राणा, हेड कांस्टेबल मनोज कुमार, कांस्टेबल अंकित कुमार, कांस्टेबल दीपक कुमार, कांस्टेबल सत्यजीत सिंह, कांस्टेबल मोहित कुमार को पहले निलंबित किया था जबकि नेपाल सिंह को बाद में निलंबित किया गया।

मृतक के भाई कृष्ण कुमार की ओर से कराई गई एफआईआर में एंबुलेंस ड्राइवर समेत सात नामजद और तीन अज्ञात का जिक्र था। विवेचक के मुताबिक इस लिहाज से प्राथमिक तौर पर इन्हीं सात लोगों को फरार आरोपी मानकर तफ्तीश की जा रही है। इनकी गिरफ्तारी के बाद अन्य पुलिसकर्मियों व नामजदों की संपत्ति कुर्क होगी।

Share.

About Author

Leave A Reply