Saturday, February 24

मणिपुर में फिर से भड़की हिंसा, 3 की गोली मारकर हत्या, 5 ज़िलों में कर्फ्यू लगा

Pinterest LinkedIn Tumblr +

इंफाल 02 जनवरी। मणिपुर में नए साल के पहले दिन फिर से हिंसा भड़क उठी। थौबल जिले के लिलोंक इलाके में गत शाम अज्ञात बंदूकधारियों ने स्थानीय लोगों से झड़प के बाद गोलीबारी की जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई जबकि गोलीबारी में पांच लोग भी घायल हुए हैं। हिंसा भड़कने के बाद थौबल और इंफाल पश्चिमी समेत घाटी के पांच जिलों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अज्ञात हमलावरों ने भीड़ पर अंधाधुंध गोलियां चलाई जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई और पांच लोग घायल हुए हैं। सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अभी तक हमलावरों की पहचान नहीं हो सकी है।

पुलिस ने बताया कि हमले के बाद स्थानीय लोगों की आक्रोश भी फूटा और उन्होंने तीन कारों को आग के हवाले कर दिया। हिंसा की घटना के बाद माहौल को ज्यादा बिगड़ने से रोकने की मंशा से थौबल, इंफाल पूर्व और इंफाल पश्चिम, काकचिंग और बिष्णुपुर जिलों में कर्फ्यू लागू कर दिया गया है।

मणिपुर की इस ताजा हिंसा की घटना को लेकर मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने लिलोंग के निवासियों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने हिंसा की निंदा करते हुए कहा कि पुलिस हमलावरों की तलाश में जुटी है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने हमलावरों को सरेंडर करने या अंजाम भुगतने के तैयार रहने की चेतावनी भी दी है। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि एक प्रतिनिधिमंडल राज्य की मौजूदा स्थिति से केंद्रीय नेताओं को अवगत कराने के लिए जल्द दिल्ली जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष मई माह के शुरुआत में मणिपुर में हुई जातीय हिंसा के बाद 180 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे। बहुसंख्यक मैतेई समुदाय की अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने की मांग के विरोध में पहाड़ी जिलों में ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ आयोजित किया गया था।

Share.

About Author

Leave A Reply