Thursday, June 13

कनाडा में नौकरी के नाम पर 178 लोगों से 2.26 करोड़ की ठगी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

गाजियाबाद 30 सितंबर। कनाडा में नौकरी दिलाने का झांसा दे 178 लोगों से 2.26 करोड़ रुपये की ठगी हुई है। एसीपी वेव सिटी सलोनी अग्रवाल ने बताया कि पलविंदर सिंह ने पठानकोट के पोपिंदर सिंह और उसकी सहयोगी दिल्ली की प्रीति के खिलाफ थाना वेव सिटी में रिपोर्ट दर्ज कराई है।
पलविंदर पंजाब के गुरुदासपुर के रहने वाले है। फिलहाल वेव सिटी के एग्जेक्यूटिव फ्लोर्स में रहते हैं। उनके परिचित मोहन सिंह और देशराज ने उन्हें पलविंदर से मिलवाया था। वह उनके घर आने जाने लगा और कुछ समय बाद दिल्ली के त्रिलोकपुरी की प्रीति भी उसके साथ आने लगी।

आरोपित ने बताया था कि वह कनाडा की कंपनियों को मैन पावर उपलब्ध कराता है। अपने साथ दिल्ली स्थित कनाडा वीजा सेंटर भी घुमाने ले गए और फिर एक दिन कहा कि 500 कर्मचारियों को जल्द से जल्द कनाडा भेजना है। आपके कुछ जानकार हों तो बताओ।
3380 कनाडियन डॉलर का वेतन मिलेगा। तीन से चार लाख रुपये का खर्च आएगा। उनके जरिये उत्तर प्रदेश, दिल्ली व पंजाब के 178 लोग पोपिंदर से मिले। इनका चिकित्सीय परीक्षण दिल्ली में कराया, जिसके 20-20 हजार रुपये लिए। बायोमेट्रिक के लिये 50-50 हजार रुपये लेकर सभी के पासपोर्ट भी ले लिए। इसके बाद 80-80 हजार रुपये और वीजा के लिए दो-दो लाख रुपये लिए। टिकट के लिए एक-एक लाख रुपये और जल्दी भेजने के एवज में 11 लोगों से एक-एक लाख रुपये अतिरिक्त ले लिए। पहले 61 लोगों की टिकट बुक कीं, जो तीन दिन बाद रद्द करा दी गईं। ऑनलाइन टिकट नहीं दिखीं तो पोपिंदर से बात की।
उसने कहा कि टिकट जल्द ही दोबारा हो जाएंगी, लेकिन टिकट फिर रद्द कराई गईं तो वह कनाडा की एंबेसी पहुंचे, जहा टिकट, वीजा, एग्रीमेंट बांड, अप्रूवल लेटर आदि से जुड़े दस्तावेज दिखाए तो पता चला कि सभी फर्जी हैं। इसका पता चलते ही दोनों ने फोन नंबर बद कर लिए, जिसके बाद लोग पलविंदर से पैसे मांग रहे हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply