Friday, March 1

अनजान को रक्तदान करने 42 किमी दूर से आया युवक

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 06 जनवरी (प्र)। रक्तदान को महादान माना जाता है। हालांकि रक्तदान को लेकर अक्सर लोगों के मन में कई तरह की भ्रांतियां रहती हैं। वहीं 22 साल के एक युवक ने एक अनजान जरूरतमंद के लिए प्लेटलेट्स दान कर मिसाल पेश की है। यह युवक ब्लड कैंसर से पीड़ित एक बुजुर्ग के लिए सोशल मीडिया पर मदद की अपील देख कड़ाके की ठंड में 42 किमी की दूरी तय कर प्लेटलेट्स दान करने पहुंचा।
शास्त्रीनगर निवासी 74 साल के बुजुर्ग ब्लड कैंसर से पीड़ित हैं। वह शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। डॉक्टर ने उन्हें प्लेटलेट्स के जंबो पैक चढ़ाने की जरूरत बताई। उनका ब्लड ग्रुप ओ निगेटिव होने के कारण प्लेट्लेट्स मिलने में परेशानी आ रही थी। उनकी धेवती ने सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगाई।

हस्तिनापुर निवासी गर्व कर्णवाल ने सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को देखा तो मरीज के परिजनों से संपर्क किया। कड़ाके की ठंड में 42 किमी दूरी तय कर गर्व अस्पताल पहुंचा। यहां से जीवांश ब्लड बैंक जाकर मरीज के लिए प्लेटलेट्स को दान किया।
गर्व कर्णवाल ने बताया कि वह दिल्ली में ऑटोमोबाइल कंपनी में जॉब करते हैं और इन दिनों वह घर आए हुए थे। सोशल मीडिया पर पोस्ट देखकर मरीज के परिजनों से संपर्क किया। प्लेटलेट्स दान करने में उनको सवा घंटा लगातार अफेरेशिश मशीन के साथ रहना पड़ा।

जसवंत राय में प्रोसेसिंग फीस पर मिलेगा ब्लड
जरूरतमंदों को अब खून के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। जसवंत राय सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के ब्लड बैंक प्रभारी अनुज शर्मा ने बताया कि ब्लड बैंक से गरीब और जरूरतमंद लोगों को बिना डोनेशन के केवल प्रोसेसिंग फीस पर ब्लड देगा। यही नहीं, यदि किसी के पास डोनर है। तो वह बिना प्रोसेसिंग फीस के भी ब्लड ले सकेगा। इसके लिए उसके पास आधार कार्ड होना जरूरी है। कर्णवाल ने बताया कि यह इनके जीवन का पहला रक्तदान रहा लेकिन उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई।

Share.

About Author

Leave A Reply