Monday, April 15

कालेजों में छात्र संख्या बढ़ायेगी अभाविप

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 27 दिसंबर (प्र)। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री प्रफुल्ल आकांत ने कहा कि यदि हमें दुनिया का नेतृत्व करना है तो स्वयं को भी बदलना होगा। उन्होंने विवि और कॉलेज में छात्र संख्या बढ़ने पर दिया। कहा कि कैंपस कॉलेजों में छात्रों की संख्या घटती जा रही है और कोचिंग में बढ़ रही है। परिषद मांग करती है कि छात्रों की हाजिरी 75 फीसदी होनी ही चाहिए। इसके लिए संगठन अगले साल आंदोलन चलाएगा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के 75 वर्ष पूरे होने पर मंगलवार को चौधरी चरण सिंह विवि परिसर स्थित ऑडिटोरियम में अमृत महोत्सव में प्रफुल्ल आकान्त ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि किसी संगठन का इतने साल पूरे करना अपने आप में बड़ी बात है। विद्यार्थी परिषद जो विषय उठाती है उसको पूरा भी करती है। छात्र शक्ति ही राष्ट्र शक्ति है। एबीवीपी कोई क्लब नही है यह संघर्ष करती है और न्याय की आवाज को उठाती है। सभी स्कूल और विश्वविद्यालय को शिक्षा को ऊंचा उठाने के लिए कार्य करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि अनुशासन, समरसता और शुचिता पर काम करना होगा। कार्यकर्ता जहां भी हैं वहां सकारात्मक वातावरण तैयार करते हुए काम करें और आगे बढ़ें। भारत सही पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है। दुनिया भारत की ओर देख रही है हमें अपनी पहचान के साथ आगे बढ़ना होगा। समय हमारा है भारत का महाशक्ति नहीं बल्कि विश्व गुरु बनना महत्वपूर्ण है। इससे ही दुनिया में शांति आ सकती है।

प्रफुल्ल आकान्त ने कहा कि पढ़ाई के बाद युवा देश के लिए काम करें, छात्रों में यही भाव एबीवीपी पैदा करती है। परिषद कार्यकर्ताओं को केवल अपने तक जीने तक नहीं बल्कि समाज राष्ट्र के लिए काम करने को तैयार कराती है। समाज और राष्ट्र सेवा का यह काम जारी रहेगा।

विवि की कुलपति प्रोफेसर संगीता शुक्ला ने कहा कि देश निर्माण में अभाविप कार्यकर्ताओं का बड़ा योगदान है। वे देश को दिशा दे रहे हैं। छात्रों में बहुत ऊर्जा है। देश निर्माण में इस ऊर्जा का बहुत योगदान दे सकते हैं। नई शिक्षा नीति उद्यमिता पर केंद्रित करती है। यदि हम भारत भ्रमण कर लें तो विदेश जाने की जरूरत नहीं होगी। हमारा देश बहुत खूबसूरत है।

उन्होंने कहा कि हम वृक्षों को पूजते हैं। आज के युवा इन्हें भूलते जा रहे हैं हमें अपनी जड़ों की ओर लौटना होगा। पूर्व प्रांत अध्यक्ष राज नारायण शुक्ला ने कहा कि आज के छात्र ही कल देश को दिशा देने वाले हैं जिनको राष्ट्रवाद से जलन होती है, जिन्हें राष्ट्र के टुकड़े देखने हैं, वे राष्ट्रवादी संगठनों को दबाना चाहते हैं। ऐसे लोग विदेश में जाकर भी देश के विरोध में बोलते हैं। जाति-पाति और छुआछूत को राजनीतिक कारणों से फिर बढ़ाने का काम किया जा रहा है। कार्यक्रम में ऊर्जा राज्य मंत्री सोमेंद्र तोमर, मेयर हरिकांत अहलूवालिया, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अवनीश त्यागी आदि लोग मौजूद रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply