Thursday, May 30

किशोरी को खुदकुशी करने के लिए मजबूर करने के आरोपी की दुकान पर चला बुलडोजर

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखीमपुर खीरी 06 नवंबर। यूपी के लखीमपुर में 17 साल की किशोरी ने अपनी आपत्तिजनक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद तनाव में आकर आत्महत्या कर ली। हालांकि, मामले में पुलिस ने मुस्लिम समुदाय से जुड़े मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही लखीमपुर के पुलिस अधीक्षक की ओर से संपूर्णा नगर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) सियाराम वर्मा को निलंबित कर दिया गया है। मामले में पुलिस ने गत दिवस कार्रवाई करते हुए कथित तौर पर पीडब्‍लूडी की जमीन पर अवैध रूप से बनी आरोपी की दुकान को बुलडोजर की मदद से गिरा दिया है।

मामला यूपी के लखीमपुर खीरी जिले का है। मामले में पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि संपूर्णा नगर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में 17 वर्षीय किशोरी ने बीते शनिवार को आत्महत्या कर ली। मामले में जानकारी जुटाई गई तो सामने आया कि मुस्लिम समुदाय के एक युवक ने नाबालिग पीड़िता की आपत्तिजनक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल कर दी थी, जिसके बाद तनाव में आकर किशोरी ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया। इस घटना में लापरवाही बरतने के चलते खीरी के पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने स्थानीय संपूर्णा नगर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सियाराम वर्मा को शनिवार की शाम निलंबित कर दिया। वहीं, गणेश प्रसाद साहा ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि पलिया के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) आदित्य कुमार को इस पूरे मामले की जांच करने के निर्देश देने के साथ घटना से जुड़े आरोपियों की सजा सुनिश्चित करने के लिए तुरंत आरोप पत्र दाखिल करने के लिए भी निर्देशित किया गया है।

पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने बताया कि मामले के मुख्य आरोपी (20 वर्षीय मुस्लिम युवक) को गिरफ्तार करते हुए आरोपी युवक की अवाध रूप से बनी संचालित दो ऱही दुकान को बुलडोजर से ध्वस्त करने की कार्रवाई की गई है। इस ध्वस्तीकरण की कार्रवाई को लेकर विशेष पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि आरोपी की दुकान लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) की जमीन पर अवैध रूप से बनाई गई थी, जिसके चलते ये कार्रवाई की गई है। पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने कहा कि पीड़ित परिवार की ओर से थाने पर दर्ज कराई गई प्राथमिकी के जरिए लगाए सभी आरोपों से जुड़े बिंदुओं पर जांच की जाएगी। आपको बता दें कि शनिवार देर शाम हुई इस घटना के बाद पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) तरुण गाबा भी मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से मुलाकात करते हुए मामले में प्रभावी और त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

पुलिस ने बताया कि इस मामले में जांच के दौरान कई खुलासे हुए, जिसके बाद दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही इस मामले में प्राथमिकी में मुख्य आरोपी के साथ-साथ उसके दो भाई और पिता को भी शामिल किया गया है। तहरीर में पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया कि आरोपी युवक और उसके परिवार के अन्य सदस्य नाबालिग पर आरोपी के साथ निकाह करने के लिए जबरन दबाव बना रहे थे। मामले में मृतका की बहन ने भी आरोप लगाते हुए कहा कि आरोपी युवक बीते काफी समय से उसकी बहन को प्रताड़ित करने के साथ ही ब्लैकमेल कर रहा था, जिसके चलते उसकी बहन को आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ा।

Share.

About Author

Leave A Reply