Sunday, April 14

ऐतिहासिक भगवान जगन्नाथ यात्रा को लेकर विवाद

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 16 मार्च (प्र)। भगवान जगन्नाथ मंदिर से परंपरागत 7 जुलाई को भगवान जगन्नाथ जी शोभायात्रा निकाले जाने से पूर्व ही विवाद के घेरे में आ गई है। दो मार्च को भगवान श्री जगन्नाथ मंदिर सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष विजय गोयल विज्जी और महामंत्री सुरेंद्र सिंधु ने बैठक कर आयोजन की रूपरेखा बनाई। इस बीच दूसरे गुट ने शुक्रवार को भगवान जगन्नाथ मंदिर समिति की बैठक कर अध्यक्ष राजेंद्र वर्मा और महामंत्री दिनेश गुप्ता को मनोनीत कर दिया। इसके साथ हौ भाजपा के वरिष्ठ नेता और जनप्रतिनिधि को भी मुख्य संरक्षक बनाने का दावा किया। ऐसे में अध्यक्ष विजय गोयल विज्जी की तरफ से थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की गई है।

सदर महा बिल्वेश्वरनाथ मंदिर में भगवान जगन्नाथ जी की परंपरागत शोभायात्रा निकाली जाएगी। अध्यक्ष विजय गोयल विज्जी ने बताया कि भगवान श्री जगन्नाथ मंदिर सेवा ट्रस्ट 2016 से रजिस्टर्ड है। संगठन में महामंत्री सुरेंद्र सिंधू, कोषाध्यक्ष पवन गर्ग, मुख्य संयोजक विवेक रस्तोगी और गणेश अग्रवाल शामिल हैं। संगठन ने 7 जुलाई को भव्य यात्रा आयोजन और 9 अप्रैल नववर्ष प्रतिपदा पर पत्रक विमोचन और यज्ञ आयोजन को लेकर बैठक 2 मार्च को बैठक की। उन्होंने बताया कि एसोसिएशन का 7 मई 2023 को चुनाव हुआ और नए पदाधिकारियों का पांच वर्ष के लिए चयन हुआ था। महामंत्री सुरेंद्र सिंधु ने बताया कि संगठन की तरफ से थाने में तहरीर दी गई है। जनप्रतिनिधियों को भी अवगत कराया गया है कि ट्रस्ट के नाम का दुरुपयोग किया जा रहा है।

वहीं दूसरे गुट की शुक्रवार को भगवान जगन्नाथ मंदिर समिति की बैठक मंदिर प्रांगण में हुई, जिसमें भगवान जगन्नाथ शोभायात्रा के लिए कार्यकारिणी के लिए संरक्षक रोहित जाखड़, अध्यक्ष राजेंद्र वर्मा, महामंत्री दिनेश गुप्ता, कोषाध्यक्ष राम शर्मा को मनोनीत किया गया। चुनाव अधिकारी अंकित शर्मा और सह चुनाव अधिकारी राजेंद्र गुप्ता मौजूद रहे। बैठक में गणेश दत्त शर्मा, विष्णु दत्त शर्मा, ज्ञानेंद्र सक्सेना, आनंद प्रकाश, रितेश जैसवाल, अंकित गुप्ता, निर्मितेंदू शर्मा, अनिल जैन आदि मौजूद रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply