Thursday, May 30

चौराहों पर जाम का कारण बन रहे हैं ई-रिक्शा, अवैध संचालन पर रोक की मांग को लेकर प्रदर्शन

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 29 सितंबर (प्र)। पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने एसपी ट्रैफिक जितेंद्र श्रीवास्तव के कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए शहर में अवैध ई-रिक्शाओं के संचालन पर रोक लगाने की मांग की। व्यपारी नेताओं ने इस संबंध में एसपी ट्रैफिक को एक ज्ञापन भी दिया।

प्रदेश अध्यक्ष पं. आशु शर्मा ने कहा कि मेरठ शहर के प्रमुख चौराहे भयंकर जाम से ग्रस्त रहते हैं। हजारों की संख्या में शहर के अंदर अवैध ई-रिक्शाओं का संचालन ट्रैफिक पुलिस की नाक के नीचे हो रहा है । उन क्षेत्रों के व्यापारियों का व्यापार समाप्त होने की स्थिति में है । यातायात पुलिस किसी भी तरीके की कार्यवाही अवैध ई-रिक्शा संचालकों पर नहीं करती, जबकि अवैध ई- रिक्शाओं से बड़ी संख्या में हादसे भी हो चुके हैं। भूमिया पुल चौक, गोलाकुआं चौक, हापुड़ अड्डा चौराहा, घंटाघर चौक, खैरनगर फिल्मीस्तान चौक, बुढ़ाना गेट चौक, शारदा रोड, सदर बाजार आदि महत्वपूर्ण बाजार हैं। जहां हजारों की संख्या में व्यापारियों की प्रमुख समस्या है कि स्थानीय ट्रैफिक पुलिसकर्मी ई-रिक्शा संचालकों से अवैध वसूली करते हैं। जिस कारण यह रिक्शा संचालकों के हौसले बुलंद हैं।

पं. आशु शर्मा ने एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र श्रीवास्तव से कहा कि समस्या का समाधान 15 दिनों के अंदर नहीं होता, तो पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल शहर के व्यापारियों को लेकर एसएसपी कार्यालय पर धरना देने को मजबूर होगा। इस दौरान सरदार मंजीत सिंह कोछड़, चौ. सरताज गाजी, पियुष वशिष्ठ, सुमेर सिंह, विजय ओबेरॉय, धर्मेंद्र मलिक, विजय राठी, हाजी शारिक, रजनीश भाटी, शन्नी गुप्ता, मंसूर भाई, श्याम परूथी, संजय शर्मा, डा. अलमास खान, आसिफ खान, अशोक शर्मा, आदिश अग्रवाल, जुबैर कुरैशी, आसिफ खान, मोहित चौहान आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply