Monday, May 20

लिसाड़ीगेट में नकली मूव और वीट क्रीम बनाने की फैक्ट्री पकड़ी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 11 नवंबर (प्र)। मूव क्रीम लगाकर भी दर्द में आराम नहीं मिल रहा हैं, वीट क्रीम लगाने पर शरीर से बाल साफ नहीं हो रहे हैं, तो समझ लीजिए, यह क्रीम नकली है। लिसाड़ीगेट में पिछले तीन साल से नकली मूव और वीट क्रीम बनाने की फैक्ट्री संचालित हो रही थी। गुरुग्राम की कंपनी ने पुलिस के साथ मिलकर माल की सप्लाई देने जा रहे युवक को 1600 पैकेट नकली क्रीम के साथ गिरफ्तार किया है, जिसकी कीमत साढ़े तीन लाख की बताई जा रही है। पकड़े गए आरोपित ने बताया कि दिल्ली, चैन्नई, चंडीगढ़ और लखनऊ तक उनकी सप्लाई जा रही थी। अभी तक कई करोड़ की नकली क्रीम बनाकर बेच चुके हैं।

रेकिट बेनकाइजर हेल्थ केयर इंडिया प्रा. लि. मैनेजर सोमित आर्य ने बताया कि पिछले काफी दिनों से ग्राहकों की ई-मेल आ रही थी कि, मूव और वीट क्रीम काफी देरी से काम कर रही हैं। ऐसे में कंपनी की तरफ से बाजारों को सर्वे किया गया।जांच में सामने आया कि बाजार में नकली पेन रिलीफ क्रीम मूव और हेयर रिमूवल क्रीम वीट की बिक्री हो रही है। दिल्ली से लेकर लखनऊ और चैन्नई तथा चंडीगढ़ तक नकली क्रीम बिक रही है। दिल्ली के कुछ काउंटर से मालूम हुआ कि नकली मूव और वीट की सप्लाई मेरठ से हो रही है।
तभी मेरठ में आकर कंपनी की पड़ताल की गई। दिल्ली की एक फर्म के नाम पर साढ़े तीन लाख की मूव और वीट का आर्डर दिया गया। ईदगाह गोल्डन कालोनी लिसाड़ीगेट का रहने वाला नईम गुरुवार को सप्लाई ट्रांसपोर्ट पर डालने जा रहा था। तभी कंपनी के मैनेजर सोमित आर्य ने ब्रह्मपुरी पुलिस को साथ लेकर मिलकर घेराबंदी कर माधवपुरम में नईम को पकड़ लिया है। उसके कब्जे से 1600 पीस क्रीम के बरामद किए गए है। नईम ने पूछताछ के दौरान बताया कि तीन साल से लिसाड़ीगेट में नकली क्रीम तैयार की जा रही थी, जो कई राज्यों में सप्लाई हो रही थी।

Share.

About Author

Leave A Reply