Sunday, April 14

कांग्रेस के लिए वरदान साबित हो सकते हैं पूर्व विधायक! गजराज सिंह गठबंधन के जीताऊ उम्मीदवार हो सकते हैं : यशपाल

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 07 मार्च (विशेष संवाददाता)। 2022 में कांग्रेस छोड़कर हापुड़ विधानसभा क्षेत्र से चार बार विधायक रहे और फिर रालोद में गए गजराज सिंह ने दिल्ली में गत दिवस इस संकल्प के साथ कि अब जीवनभर कांग्रेस में बिताउंगा और आत्मा की आवाज पर यूपी के प्रभारी कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडेय प्रदेशाध्यक्ष अजय राय की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। राजनीति में कब कौन किसके साथ चला जाए और किसकी हार जीत हो जाए यह तो कोई कुछ नहीं कह सकता मगर यह पक्का है कि कांग्रेस सपा इंडिया में गठबंधन होने के बाद मेरठ हापुड़ लोकसभा सीट कांग्रेस के हिस्से में आई है। ऐसे में गजराज सिंह का पार्टी में शामिल होना कांग्रेस के लिए वरदान साबित हो सकता है। क्योंकि वो दलित राजनीति में तो अपना प्रभाव रखते ही हैं। वैश्य समाज में भी उनके मजबूत रिश्ते हैं। इसलिए यह कह सकते हैं कि अगर कांग्रेस उन्हें चुनाव लड़ाती है तो कई साल बाद इस क्षेत्र में उसका जनसमर्थन पुन जीवित हो सकता है।

इस बारे में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव रहे इस पार्टी के समर्पित नेता चौधरी यशपाल सिंह का कहना है कि अगर पार्टी उन्हें चुनाव मैदान में उतारती है तो मेरठ शहर में रफीक अंसारी और पूर्व मंत्री विधायक शाहिद मंजूर सहित तमाम मुस्लिम नेता गजराज सिंह के समर्थन में खड़े हो सकते हैं और उन्हें जीताने की भरपूर कोशिश करेंगे। जब उनसे पूछा गया कि यह सामान्य सीट है तो उनका कहना था कि पूर्व में हापुड़ गाजियाबाद लोकसभा क्षेत्र से बीपी मौर्या और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे महाराष्ट्र में सामान्य सीटों से लड़कर चुनाव जीत चुके थे। चौधरी यशपाल सिंह के अनुसार कांग्रेस सपा और अन्य दलों से जुड़े ब्राहमण जाट और गुर्जर गजराज सिंह के साथ खड़े होंगे क्योंकि चार बार की विधायकी में गजराज सिंह ने कभी किसी को नाराज नहीं किया। उनके पास जो चला गया वो उनकी समस्या का समाधान कराते रहे। आज चौधरी यशपाल सिंह ने बताया कि उन्होंने कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को मेल भेजकर उनसे मांग की है कि वो कांग्रेस का जनाधार वापस लाने और पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए मेरठ हापुड़ लोकसभा क्षेत्र से गजराज सिंह जैसे जिताऊ उम्मीदवार को चुनाव लड़ाए। उनकी जीत के लिए गठबंधन के नेता और कार्यकर्ता निर्विवाद छवि होने के चलते पूरा जोर लगा देंगे। स्मरण रहे कि जब गजराज सिंह ने कांग्रेस ज्वाइन की तो राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर मेरठ महानगर अध्यक्ष जाहिद अंसारी, प्रदेश सचिव रंजन शर्मा, धूमसिंह विधायक हापुड़ शहर अध्यक्ष अभिषेक गोयल आदि मौजूद रहे।

चित्र में सदस्यता लेते गजराज सिंह पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ व चौधरी यशपाल सिहं

Share.

About Author

Leave A Reply