Friday, April 12

वंदेभारत एक्सप्रेस से कटकर मां और 2 बेटियों की मौत

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 30 अक्टूबर (प्र)। मेरठ में गत देर शाम बड़ा हादसा हो गया। यहां कंकरखेड़ा के कासमपुर फाटक पर वंदेभारत ट्रेन से कटकर मां और 2 बेटियों की मौत हो गई। तीनों की मौके पर मौत हो गई। हंसता खेलता परिवार चंद सेकेंड में बिखर गया। बचा तो केवल पिता जो फाटक गिरने के बाद क्रासिंग के उस पार खड़ा होकर ट्रेन गुजरने का इंतजार कर रहा था। लेकिन मां, बेटी बंद फाटक पर ही पटरी क्रॉस करने लगीं, तभी हाईस्पीड ट्रेन आ गई। ट्रेन गुजरने के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई।

छावनी के रजबन निवासी नरेश अपनी पत्नी 40 वर्षीय मोना और दो बेटियों 14 वर्षीय मनीषा और सात वर्षीय चारू के साथ रेहड़े से अपनी बहन लक्ष्मी से मिलने कंकरखेड़ा के अशोकपुरी जा रहा था। नरेश रेहड़ा चला रहा था और पत्नी व दोनों बेटियां पीछे बैठी थीं। कासमपुर रेवले फाटक बंद होने पर वह नीचे से रेहड़ा निकालने लगा। तभी वंदेभारत ट्रेन आ गई। रेहड़े का पिछला हिस्सा ट्रेन से टकरा गया। जिससे रेहड़े के साथ चल रही लक्ष्मी और दोनों बेटियों की मौत हो गई। लोको पायलट ने ट्रेन एक किमी दूर कैंट स्टेशन पर रोकी। यहां पर इस ट्रेन का स्टापेज नहीं है। दो मिनट बाद उसे देहरादून के लिए रवाना किया गया। डीएम दीपक मीणा व एसएसपी रोहित सिंंह सजवाण भी मौके पर पहुंचे।

एसपी सिटी पीयूष सिंह ने मौके पर पहुंचकर भीड़ को ट्रैक से हटाया. इसके बाद कानूनी प्रक्रिया के तहत जांच की जा रही है. पीयूष सिंह ने बताया की एक महिला और उसकी दोनों बेटियों की वंदे भारत ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई. वंदे भारत ट्रेन के आने का सिग्नल ग्रीन था, क्रॉसिंग बंद थी. इसी दौरान तीनों फाटक के नीचे से निकलकर रेलवे ट्रैक पार करने लगे और तभी ट्रेन आ गई और तीनों ट्रेन के नीचे आ गईं. जिसके बाद पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया. मामले में अग्रिम कार्रवाई की जा रही है.

Share.

About Author

Leave A Reply