Thursday, May 30

मेरठ और एनसीआर हवा में घुला जहर, एक्यूआई खतरनाक स्तर पर

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 10 अक्टूबर (प्र)। मेरठ और आसपास के जिलों में एयर क्वालिटी इंडेक्स की हालत बदतर है। पिछले 24 घंटे में गाजियाबाद और नोएडा का एक्यूआई 300 तक पहुंच चुका है। वहीं मेरठ में भी हवा की सेहत लगातार खराब बनी हुई है। मेरठ में एक्यूआई आज मंगलवार को सुबह 225 था। जबकि बेगमपुल में एक्यूआई 250 तक पहुंच गया है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दो तीन दिन तक आसमान में बादल छाए रहने की संभावना है। हालांकि बारिश की संभावना अभी नहीं है।
दिल्ली एनसीआर और आसपास के इलाकों में मौसम साफ है। लेकिन आबोहवा काफी खराब होती जा रही है। एनसीआर के जिलों में तापमान सामान्य से 3 डिग्री अधिक रिकॉर्ड किया है। हवा की सेहत में धीरे-धीरे अब बदलाव देखने को मिल रहा है।

दिल्ली एनसीआर में मंगलवार को सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स 250 के आसपास है। जो मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है।
पिछले 48 घंटों में आबोहवा की बात करें तो पीएम 2.5 एयर क्वालिटी इंडेक्स 90 से 311 तक रहा है। इसका मतलब है कि एनसीआर की हवा में प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है। इस स्थिति में उन लोगों के लिए स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है जो सांस की बीमारी के साथ ही फेफड़ों के संक्रमण से परेशान रहते हैं। अस्थमा के मरीजों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। बुजुर्ग और बच्चों को मास्क लगाकर ही बाहर निकलने की सलाह दी गई है।

पर्यावरणविद नवीन प्रधान ने बताया कि एक्यूआई की बात करें तो 0-50 तक एक्यूआई अच्छा माना गया है। जबकि 51-100 एक्यूआई है तो इसे मोडरेट मानते हैं। जिससे बहुत नुकसान नहीं होता लेकिन, प्रदूषण होता है जो बहुत सेंसिटिव लोगों को ट्रिगर करता है। अगर यह 101-150 तक पहुंच जाता है तो ऐसे में जिन लोगों को सांस की बीमारी हैं। उन्हें यह ज्यादा जकड़ता है। एक्यूआई 151-200 के बीच होता है तो लोगों को सांस लेने में परेशानी होती है।

Share.

About Author

Leave A Reply