Wednesday, May 22

पंचकूला में दशहरे पर होगा सबसे ऊंचे 177 फीट रावण के पुतले का दहन, लागत 18 लाख

Pinterest LinkedIn Tumblr +

पंचकूला 23 अक्टूबर। दशहरा को बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर रावण के पुलते का दहन किया जाता है। कल मंगलवार को दशहरा के मौके पर देश के सबसे ऊंचे रावण के पुतले को जलाया जाएगा। यह पुतला हरियाणा के पंचकूला जिले जलाया जाएगा। इसकी ऊंचाई 177 फुट है, जो भारत का सबसे ऊंचा रावण का पुतला है। इसको बनाने में एक महीने का वक्त लगा है। इसकी ऊंचाई 177 फुट है। रावण क् पुतला बनाने वाले तेजिन्द्र चौहान इससे पहले पांच बार लिम्का बुक का रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कर चुके हैं। रावण के इस पुतले को मैदान में खड़ा करने के लिए क्रेन का इस्तेमाल किया गया है।

पंचकूल में 177 फीट ऊंचे रावण के पुतले को देखने के लिए पहुंच रहे लोग इसे याद बनाना चाहते हैं। यहां सेक्टर पांच शालीमार ग्राउंड में इस रावण के पुतले के साथ लोग सेल्फी लेते और फोटो खिंचवाते नजर आ रहे हैं। इतनी बड़ी रावण की प्रतिमा को लोग यादों मे संजोना चाहते हैं।

रावण के इस पुतले को तेजिंद्र चौहान नाम के कलाकार ने बनाया है। इससे पहले भी विश्व का सबसे बड़ा रावण बनाने का रिकॉर्ड तेजिंद्र अपने नाम करवा चुके हैं। 2018 में तेजिंद्र चौहान ने 210 फीट का रावण बनाया था। इसके बाद चंडीगढ़ में 221 फीट का रावण बनाया था। पंचकूल में बना रावण का पुतला पहली बार वेलवेट के कपड़े से बनाया गया है जो देखने मे बहुत आकर्षक लगता है। पंचकूला में 24 अक्टूबर को होने वाले दशहरा मेले के दौरान इसको जलाया जाएगा। इसको लेकर तैयारियां जोरों पर हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply