Sunday, April 14

जिनको राम प्रिय नहीं, उनको राष्ट्र प्रिय नहीं: कैलाशानंद

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 16 नवंबर (प्र)। निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरि महाराज बुधवार को मेरठ पहुंचे। उन्होंने सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य को लेकर कहा कि जिनको राम प्रिय नहीं, उनको राष्ट्र प्रिय नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य जब भाजपा में थे तो राम का गुणगान किया और उनको हनुमान सेतु मंदिर भी जाते हुए देखा है, लेकिन जब से वह समाजवादी पार्टी में गए हैं, तब से उनसे मां लक्ष्मी भी नाराज हैं और राम भी नाराज हैं। कहा कि मौर्य सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए ऐसी टिप्पणी कर रहे हैं।

कैलाशानंद गिरि महाराज ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य की मां ने उनका नाम रखा होगा, जिसका अर्थ है स्वामी मतलब राम। स्वामी प्रसाद का मतलब राम का प्रसाद, जिसके नाम में ही राम है वह इस तरीके की बातें कहता हुआ शोभा नहीं देता। उनकी माता को समझना चाहिए कि वह सनातन को लेकर टिप्पणियां ना करें।

महामंडलेश्वर का छावनी स्थित पूर्व विधायक और भाजपा के फायरब्रांड नेता संगीत सोम के आवास और शंकर आश्रम पर स्वागत हुआ।
महामंडलेश्वर आरएसएस के क्षेत्र प्रचारक महेन्द्र सिंह के कार्यक्रम में भी शामिल हुए। कैंट विधायक अमित अग्रवाल, जलशक्ति राज्य मंत्री दिनेश खटीक, जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन विमल शर्मा, भाजपा के महानगर अध्यक्ष सुरेश जैन रितुराज समेत दर्जनों नेताओं ने महामंडलेश्वर से आशीर्वाद लिया।

Share.

About Author

Leave A Reply