Sunday, June 23

फाइनेंसर से पांच लाख की रंगदारी मांगने वाले दो भाई किए गिरफ्तार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 30 अप्रैल (प्र)। बेगमपुल स्थित वीरेंद्रा फाइनेंस कंपनी के संचालक से दो भाईयों ने पांच लाख की रंगदारी मांगी। रकम नहीं देने पर हत्या की धमकी दी गई। उसके बाद पथराव कर कार में तोड़फोड़ कर दी गई। सरूरपुर पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया ।

रामपुर मोती गांव निवासी गुरदीप सिंह पुत्र विरेंद्र कुमार ने बताया कि वर्ष 2017 से परिवार के साथ कंकरखेड़ा के रोहटा रोड पर स्थित नैलफोर्ड सिटी कालोनी में रहते हैं। लालकुर्ती में बेगमपुल पर वीरेंद्रा फाइनेंस कंपनी है। शुक्रवार को वह अपने आफिस में थे। उसी दौरान रामपुर मोती गांव निवासी मोहित और अंकित दो भाईयों का मोबाइल पर काल आया। आरोप है कि मोहित ने धमकी देकर पांच लाख की रंगदारी मांगी। उसके बाद शनिवार को भी कई बार काल की गई। गुरुदीप ने काल रिसीव नहीं किया। उसके बाद आरोपित दोनों भाई उनके घर पहुंचे और मां शांति देवी व चाचा यशपाल के साथ गाली-गलौज कर लौट गए। ऐलान किया कि गुरुदीप गांव से जिंदा वापस नहीं जाएगा।

रविवार को गुरुदीप डाबका निवासी अपने दोस्त निशांत सिवाच के साथ गांव में पहुंचा। गांव में कृष्णपाल की दुकान पर गुड़ तुलवाने के लिए रुका कि तभी आरोपित दोनों भाईयों ने उस पर हमला कर दिया। कार पर भी पथराव कर तोड़फोड़ कर दी। दुकानदार और उनके स्वजन ने दुकान का गेट बंद कर दिया। उसके बाद आरोपित मौके से भाग गए। थाना प्रभारी अखिलेश गौड ने बताया कि मोहित और अंकित दोनों भाई गांव के कृष्णा के साथ मिलकर गिरोह संचालित करते है। लूटपाट की कई वारदात कर चुके हैं। अकेले मोहित पर 14 मुकदमे दर्ज हैं। उनमें से पांच मुकदमे लूटपाट के हैं। फाइनेंसर की तहरीर पर दोनों भाईयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

Share.

About Author

Leave A Reply