Friday, April 19

सड़क दुघर्टना में बाइक सवार 2 लोगों की मौत, तीसरा युवक गंभीर रूप से घायल

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 30 दिसंबर (प्र)। मेरठ में देर शाम रोड एक्सीडेंट में 2 लोगों की मौत हो गई। मरने वाले में एक किशोर एक बच्चा शामिल है। वहीं तीसरा युवक गंभीर रूप से घायल है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परीक्षितगढ़ मवाना मार्ग के गांव रामनगर पुलिया के पास बाइक सवारों को सामने से ईको बैन ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि बाइक सवार मुकुल और अभिषेक दोनों उछलकर लगभग 10 फिट दूर जा गिरे। दूर जाकर गिरने से दोनों का काफी खून निकल गया और मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उनका तीसरा साथी अंशुल गंभीर घायल है जिसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

परीक्षितगढ़ थाना प्रभारी चमन प्रकाश ने बताया कि थाना क्षेत्र के कैली रामपुर निवासी 16 वर्षीय मुकुल पुत्र सामुराम कश्यप, आलमगिर बढ़ला निवासी 15 वर्षीय अभिषेक पुत्र श्यामलाल और 14 वर्षीय अंशुल पुत्र साधूराम दोस्त हैं। अंशुल मवाना में इलेक्ट्रिक को दुकान पर काम सीख रहा है मुकुल समेत तीनों किशोर शुक्रवार शाम करीब पांच बजे मवाना से एक बाइक पर सवार होकर घर लौट रहे थे। प्याऊ के पास पहुंचे तो मवाना की ओर जा रही बेकाबू ईको बैन ने इनकी बाइक को टक्कर मार दी। तीनों बाइक से कई फीट उछले और सड़क पर गिर गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि इंको वैन चालक रुकने के बजाय मुकुल व अभिषेक को रौंदते हुए निकल गया दोनों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अंशुल गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर इंस्पेक्टर में पुलिस के साथ पहुंचे। दोनों शवों को मचरी भेज दिया, जबकि चावल को सीएचसी भर्ती कराया, जहाँ हालत गंभीर होने के कारण उसे रेफर कर दिया। मृतकों के स्वजन भी मौके पर पहुंच गए और आरोपित वाहन चालक को पकड़ने की मांग को लेकर हंगामा किया। बाइक मुकुल को बताई जा रही है और वही चला रहा था। तीनों में किसी ने भी हेलमेट नहीं पहन रखा था। इंस्पेक्टर ने बताया कि उक्त मामले में अभी तहरीर नहीं मिली है। आरोपित गाड़ी चालक को जल्द पकड़ लिया जाएगा।

परिवारों पर टूटा गम का पहाड़ कैली रामपुर निवासी मृतक मुकुल तीन भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसकी मौत से मां बबीता देवी, पिता मामचंद भाई हितेश व मोनू और अन्य कारो रोकर बुरा हाल है। आलमगिरपुर बहला निवासी मृतक अभिषेक दो भाइयों में छोटा था। उसकी मौत से मां तारावती, पिता श्याम व भाई सुमित का रो-रोकर बुरा हाल है।

हेलमेट और ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था
सड़क सुरक्षा यातायात को लेकर पुलिस प्रशासनिक अधिकारी भी गंभीर नहीं है। 18 वर्ष की उम्र से पहले ड्राइविंग लाइसेंस भले ही नहीं दिया जाता हो, लेकिन इससे कम उम्र के किशोर को रोकने के लिए चेकिंग अभियान भी नहीं चलाया जाता उक्त किशोर भी मवाना थाना क्षेत्र कि करबा सीमा में बिना हेलमेट के बाइक से निकले, लेकिन किसी ने रोकने का प्रयास नहीं किया। काश पुलिस सजग होती तो दोनों की जान बच सकती थी।

Share.

About Author

Leave A Reply