Saturday, April 20

वाजपेयी जी आपको एक बार फिर पुराने रूप में आना होगा, हवाई यात्रा गडढा मुक्त सड़क लिंक रोड एलिवेटेड मार्ग का सपना साकार कराने हेतु

Pinterest LinkedIn Tumblr +

वर्तमान में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्यसभा सांसद डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी द्वारा जनसमस्याओं के समाधान के लिए अपनाई जाने वाली सक्रियता से कोई भी अनभिज्ञ नहीं है। एक जमाना था जब शहर विधायक के रूप में डॉ. वाजपेयी और कैंट विधायक अमित अग्रवाल की जोड़ी प्रदेश में विपक्ष की सरकार होने के बावजूद भी हर काम कराने और नागरिकों की परेशानी के हल के लिए धरना प्रदर्शन व आंदोलन करने में अग्रणीय भूमिका निभाती थी। एक समय तो यह भी था कि जब ये विधायक किसी सरकारी कार्यालय में पहुंचते थे तो यह पता कर कि वो किस काम से आए हैं विभागीय अधिकारी फाइलें पहले ही मंगाकर उसमें क्या हुआ और क्या होना है की जानकारी उनके मिलने से पूर्व ही कर लेते थे क्योंकि मुलाकात होने पर उसे पता था कि जो सवाल जवाब वाजपेयी करेंगे उनका जवाब देना आसान नहीं होगा। महानगर भाजपा और युवा मोर्चा के पदाधिकारी से राजनीति की शुरूआत करने वाले कई बार शहर विधायक और प्रदेश सरकार में मंत्री रहते हुए वाजपेयी ने अपनी कर्मभूमि और पूरे प्रदेश में काफी काम कराए। भाजपा का प्रदेशाध्यक्ष रहते हुए चुनावों में पार्टी को अच्छी स्थिति में पहुंचाया। कुल मिलाकर कहने का आश्य सिर्फ इतना है कि केंद्र प्रदेश में सत्ता किसी की रही हो डा. वाजपेयी अपनों की वकालत करने और मतदाताओं के काम कराने में हमेशा अग्रणीय भूमिका निभाते रहे हैं।
वो बात और है कि अभी रेलवे-बागपत रोड लिंक मार्ग का काम शुरू नहीं हो पाया है लेकिन यह किसी से छिपा नहीं है कि सालों में मेरठ विकास प्राधिकरण में दबी इससे संबंध फाइल कुछ ही घंटों में अफसरों ने उनका रौद्र रूप देखकर केंद्र और प्रदेश सरकारों को पत्र भेजे थे। वर्तमान में डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी राज्यसभा में पार्टी उपसचेतक होने के साथ पार्टी में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं और अपनी कार्यप्रणाली के अनुसार अपनी जन्मस्थली से संबंध विकास कार्यो पर भी पूरे देश के समान निगाह रखते हैं। नागरिकों में चर्चा है कि आखिर भरपूर पावर होने केंद्र व प्रदेश में भाजपा सरकार के रहते अब वाजपेयी द्वारा शुरू कराए गए कार्य समय से पूरे क्यों नहीं हो पा रहे। अपने जनपद में तीन राज्यसभा सदस्य एक सांसद कई एमएलसी कई विधायक प्रदेश व राष्टीय स्तर के नेता व मंत्री निवास कर रहे हैं। महापौर और जिला पंचायत अध्यक्ष भी भाजपा के हैं। तो फिर एलिवेटेड रोड बागपत रोड रेलवे रोड लिंक रोड और अब ई सेवा केंद्र योजना आखिर लागू क्यों नहीं हो पा रही है। जबकि एलिवेटेड रोड के लिए अब प्रदेश सरकार द्वारा लिए निर्णय के बाद अन्य स्त्रोत भी इसके लिए आगे आ रहे हैं। उसके बावजूद एलिवेटेड रोड बच्चा पार्क से पुरानी तहसील जली कोठी तक बनने में आखिर बाधा क्या है। जो 75 अवैध कब्जे बीच में आ रहे हैं उन्हें धराशायी कर जनहित में यह योजना अब तक सिरे चढ़ जानी चाहिए थी। सुप्रीम कोर्ट द्वारा 6 अक्टूबर को अपने फैसले में स्पष्ट किए जाने के बाद की 15 दिन मे निर्णय सभी हाईकोर्ट को मानना होगा। ई सेवा केंद्र से वाद की सुनवाई के लिए मना नहीं कर सकेंगे के बावजूद अधिवक्ताओं को भूख हड़ताल क्यों करनी पड़ रही है इस मुददे को लेकर इसी प्रकार से रेलवे रोड लिंक मार्ग का काम जब शुरू होने की बात थी लेकिन अभी तक कुछ भी होता नजर नहीं आ रहा है। इसी प्रकार कई साल बीतने के बाद हवाई यात्रा शुरू नहीं हो पा रही। जबकि इसे लेकर घोषणाएं बहुत हो रही हैं।
डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी जी जनता का लगता है कि आपको पुन जनसमस्याओं के समाधान के लिए पूर्व में ऐसे मौकों पर अख्तियार किए जाने वाले रूप को धारण करना होगा तभी जनहित की सरकार की योजनाओं को लागू करने में विभिन्न प्रकार से बाधा पैदा करने वाले हुक्मरानों की शिथिलता दूर हो पाएगी। डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी जी आपके साथ शहर से लेकर दिल्ली लखनउ तक विधायकों सांसदों नेताओं की भरमार है। ऐसे में जनता को लगता है कि कोई ना कोई कोताही जरूर हो रही है वरना सीएम घोषणा कर चुके हैं कि जनहित के कार्यो के लिए बजट की कमी नहीं होेने दी जाएगी। लापरवाह अफसरों के खिलाफ कार्रवाई होगी फिर भी जनता ने अच्छी सड़कों हवाई यात्रा का जो सपना देखा था डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी जी मुझे भी लगता है कि उसे पूरा कराने के लिए आपको कुछ दिनों के लिए अपना पुराना सक्रिय और जुझारू उस राजनेता का धारण करना होगा जिसके आने की खबर से ही काम ना करने वाले अधिकारियों के पसीने छूटने लगते थे।

Share.

About Author

Leave A Reply