Tuesday, June 18

मेडिकल, गोकुल विहार, श्रद्धापुरी-2 और ड्रीम सिटी बिजलीघरों पर जर्जर तार बदलने का कार्य पूरा

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 19 दिसंबर (प्र)। एमडी पीवीवीएनएल चैत्रा वी. ने बताया कि पश्चिमांचल डिस्काॅम उपभोक्ताओं को गुणवत्तापरक एवं सुचारू रूप से निर्बाध विद्युत आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। रिवैम्पड डिस्ट्रीब्यूशन सेक्टर स्कीम भारत सरकार और राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना है। इसके अन्तर्गत पूर्व में प्रचलित योजना जैसे दीनदयाल ग्रामीण विद्युतीकरण एवं आई0पी0डी0एस0 योजना के अवशेष कार्यों को समाहित करते हुये, उपभोक्ताओं को गुणवत्तापरक विश्वसनीय एवं सामथ्र्य योग्य विद्युत आपूर्ति करने हेतु आर्थिक रूप से स्थिर एवं परिचालन रूप से कुशल विद्युत वितरण सेक्टर बनाया जाना योजना का मुख्य उद्देश्य है।

जनपद मेरठ के निम्न बिजलीघरों के अन्तर्गत निम्नलिखित फीडर 33/11 केवी, विद्युत उपकेन्द्र मेडिकल मेरठ के अन्तर्गत राजवंश विहार सोमदत्त सिटी फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र सिसोली, मेरठ के अन्तर्गत पचगांव, सिसोली, फीडर, 33/11 केवी उपकेन्द्र अगवानपुर मेरठ के अन्तर्गत अगवानपुर टाउन, खादर टाउन, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र इन्चैली मेरठ के अन्तर्गत कुनकुरा फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र हस्तिनापुर मेरठ के अन्तर्गत निडावली फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र खुरदयालपुर मेरठ के अन्तर्गत खुरदयालपुर फीडर, मोरना फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र नारंगपुर मेरठ के अन्तर्गत भगवानपुर टाउन फीडर, शिवपुरी टाउन, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र परीक्षितगढ़ मेरठ के अन्तर्गत ग्रामीण अतलपुर फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र हर्रा मेरठ के अन्तर्गत खेरी टाउन फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र जमालपुर मेरठ के अन्तर्गत जमालपुर फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र खड़ौली मेरठ के अन्तर्गत खड़ौली, गोकुलविहार फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र सैनिक विहार मेरठ के अन्तर्गत ड्रीम सिटी फीडर, 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र मेरठ के अन्तर्गत श्रद्धापुरी-2 फीडर पर एटी0एण्ड0सी0 हानियां कम करने के लिये 93.35 किलोमीटर ए0बी0 केबिल लगाये जा चुके हैं तथा 33 एवं 11 केवी लाईनों के 15.71 सर्किट किलोमीटर जर्जर तारों को बदला गया है। इसके अतिरिक्त 902 पोल अब तक मेरठ के उपरोक्त फीडरों पर लगाने का कार्य सम्पन्न किया जा चुका है तथा जनपद मेरठ के 76 अन्य फीडरों पर जर्जर तारों को बदलने, ए0बी0 केबिल लगाने, अतिभारित फीडर व कृषि फीडरों का विभक्तीकरण का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है।

एनके मिश्रा निदेशक(तकनीकी) ने बताया कि रिवैम्पड डिस्ट्रीब्यूशन सेक्टर स्कीम के अन्तर्गत समस्त 14 जनपदों में कार्य तीव्र गति से प्रगति पर है। विद्युत तंत्र को मजबूत करने के लिये जर्जर तार बदलने, ए0बी0 केबिल रिप्लेस्मेन्ट, फीडर सेग्रीगेशन, फीडर बायफरकेशन और जर्जर पोलों को बदलने का कार्य, योजना में तीव्र गति से किया जा रहा है। इन कार्यों के पूर्ण हो जाने के फलस्वरूप ग्रीष्म ऋतु में उपभोक्तााओं को निर्बाध एवं गुणवत्तापरक विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जा सकेगी।

Share.

About Author

Leave A Reply