Sunday, June 23

इंद्रप्रस्थ एस्टेट की समिति में 20 करोड़ का फर्जीवाड़ा, 10 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 04 दिसंबर (प्र)। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र स्थित इंद्रप्रस्थ एस्टेट सहकारी आवास समिति में फर्जी तरीके से पदाधिकारी बनकर 20 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा करने वाले 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। समिति सचिव ने फर्जीवाड़े की शिकायत एसएसपी से की थी । एसएसपी ने मामले की जांच एसपी ट्रैफिक को सौंपी थी। एसपी ट्रैफिक की संस्तुति के बाद थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

इंद्रप्रस्थ एस्टेट सहकारी आवास समिति के सचिव नरेश कुमार ने बताया कि वर्ष 2014 में प्रबंध कमेटी के निर्वाचन में प्रयुक्त मतदाता सूची में 709 सदस्य नामित थे। रामनरेश तोमर ने अपनी शैक्षणिक योग्यता छिपाकर सहायक सचिव के पद पर नियुक्ति करा ली। इसके बाद वह अपनी मनमानी करने लगे और वर्ष 2022 के निर्वाचन में सहायक सचिव ने फर्जी तरीके से मतदाता सूची में 257 लोगों को शामिल करा लिया। इसके बाद अपने साथी सुभाषवीर, सर्वेश पुंडीर, रामपाल सिंह, रामचंद्र सिंह, मंजू रानी, कृष्णपाल, सुनील, नूर मोहम्मद व रमेश के साथ मिलकर उनके साथ मारपीट कर नोटिस छीन लिए। इसके बाद प्रबंध कमेटी पर कब्जा कर लिया। विरोध करने पर उन्हें फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी देते और प्रबंध कमेटी के सदस्यों की रसीद काटने का दबाव बनाते हैं।

सचिव ने बताया कि यह लोग अब तक करीब 20 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा कर चुके हैं। मामले की शिकायत थाना पुलिस से की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने एसएसपी को शिकायत देकर मामले की जांच कराने की मांग की। एसएसपी के निर्देश पर एसपी ट्रैफिक ने मामले की जांच कर उक्त लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की संस्तुति की।

Share.

About Author

Leave A Reply