Sunday, July 21

250 से ज्यादा फिल्में करने वाले जूनियर महमूद का कैंसर से निधन

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मुंबई 08 दिसंबर। ‘कारवां, ‘हाथी मेरे साथी और ‘मेरा नाम जोकर जैसी फिल्मों में अपनी भूमिकाओं के लिए जाने जाने वाले चरित्र अभिनेता जूनियर महमूद का कैंसर के कारण शुक्रवार को निधन हो गया। वह 68 वर्ष के थे। जूनियर महमूद के छोटे बेटे हसनैन सैय्यद ने कहा, ‘‘मेरे पिता पेट के कैंसर से जूझ रहे थे। उनकी हालत पिछले 17 दिन से गंभीर बनी हुई थी। उनका एक महीने में 35 से 40 किलोग्राम वजन कम हो गया था।

250 से ज्यादा फिल्मों में काम कर नाम, शौहरत, दौलत और फैंस का प्यार जितने वाले जूनियर महमूद अपने आखिरी पलों में बेहद गुमनाम की जिंदगी जी रहे थे। हाल ही में कॉमेडियन जॉनी लिवर ने उनके घर पर पहुंच उनका हाल-चाल जाना और इसकी एक वीडियो भी शेयर की जिसके बाद लोगों को उनकी तकलीफ का पता लगा।

बता दें कि जूनियर महमूद का असली नाम नईम सैय्यद था। उन्होंने एक बाल कलाकार के रूप में ‘मोहब्बत जिंदगी है (1966) और ‘नौनिहाल (1967) से फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। दिवंगत हास्य कलाकार महमूद ने 1968 में रिलीज हुई फिल्म ‘सुहाग रात में उनके साथ काम किया था और इसी दौरान उन्होंने सैय्यद को जूनियर महमूद नाम दिया था। अभिनेता के निकट मित्र सलाम काजी ने बताया कि जूनियर महमूद के पेट में दर्द था और एक स्थानीय चिकित्सक उनका उपचार कर रहे थे। जब उनका वजन कम होने लगा तो उनके परिवार ने उन्हें टाटा मेमोरियल अस्पताल ले जाने का फैसला किया। काजी ने कहा, ‘‘उन्होंने उनकी जांच की और वहां चिकित्सकों ने बताया कि उनके फेफड़े और यकृत में कैंसर है और उनके पेट में एक ट्यूमर है। उन्हें पीलिया भी था।

बीमारी की हालत में जूनियर महमूद ने एक्टर जीतेंद्र और सचिन पिलगांवकर से मिलने की इच्छा जताई थी, जिसके बाद एक्टर उनसे मिलने पहुंचे थे. गुरुवार को कॉमेडियन और अभिनेता जॉनी लीवर ने भी जूनियर महमूद से मुलाकात की. जूनियर महमूद ने अपने करियर के दौरान जीतेंद्र और सचिन पिलगांवकर दोनों के साथ ही कई फिल्मों में काम किया था. सचिन पिलगांवकर और जूनियर महमूद ने बचपन, गीत गाता चल और ब्रह्मचारी जैसी फिल्मों में साथ काम किया था.

Share.

About Author

Leave A Reply